ताज़ा खबर
 

Shashi Kapoor: वर्षों से बीमार और एकाकी जीवन जी रहे शशि कपूर का निधन, राष्‍ट्रपत‍ि ने जताया शोक

Shashi Kapoor Death News: बॉलीवुड की दिग्गज हस्तियों के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी उनके निधन पर शोक जताया है

बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर शशि कपूर का लंबी बीमारी के बाद सोमवार (4 दिसंबर) को निधन हो गया। शशि कपूर पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। मुंबई के कोकिला बेन अस्पताल में शशि कपूर ने अंतिम सांसें लीं। उनके निधन की खबर आते सोशल मीडिया में #ShashiKapoor ट्रेंड करने लगा है। बॉलीवुड की दिग्गज हस्तियों के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी उनके निधन पर शोक जताया है। राष्ट्रपति कोविंद ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय फिल्मों के लिए सुप्रसिद्ध, अभिनेता शशि कपूर के निधन के बारे में जान कर बहुत दुख हुआ। सार्थक सिनेमा को उनका योगदान और भारतीय रंगमंच को शक्ति देने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका हमेशा याद की जाएगी। उनके परिवार के प्रति मेरी शोक संवेदनाएं।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर ट्वीट किया है। वहीं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कपूर के निधन पर शोक व्यक्त किया है। बॉलीवुड की मशूहर एक्ट्रेस बिपाशा बसु ने दिग्गज एक्टर के निधन पर शोक जताया है।

देखें ट्वीट्स-

गौरतलब है कि शशि कपूर ने अपने करियर में 160 फिल्मों (148 हिंदी और 12 अंग्रेजी) में काम किया। वे 79 वर्ष के थे। 60 और 70 के दशक में उन्होंने जब-जब फूल खिले, कन्यादान, शर्मीली, आ गले लग जा, रोटी कपड़ा और मकान, चोर मचाए शोर, दीवार कभी-कभी और फकीरा जैसी कई हिट फिल्में दी। शशि कपूर को तीन बार नेशनल अवॉर्ड मिल चुका है। 1979 में शशि द्वारा निर्मित फिल्म जुनून को बेस्ट फीचर फिल्म अवॉर्ड मिला। 1986 में फिल्म न्यू देल्ही टाइम्स के लिए बेस्टर एक्टर का नेशनल अवॉर्ड मिला। 1994 में फिल्म ‘मुहाफिज’ के लिए स्पेशल ज्युरी अवॉर्ड भी मिल चुका है।

1984 में पत्नी जेनिफर की कैंसर से मौत के बाद शशि कपूर काफी अकेले रहने लगे थे और उनकी तबीयत भी बिगड़ती गई। बीमारी की वजह से शशि कपूर ने फिल्मों से दूरी बना ली। साल 2011 में शशि कपूर को भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया था। 2015 में उन्हें दादा साहेब पुरस्कार भी मिल चुका था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App