ताज़ा खबर
 

15 की उम्र में 6 साल की बच्ची से पहला रेप, 14 महिलाओं को बनाया निशाना, सीरियल रेपिस्ट गिरफ्तार

रिपोर्ट के अनुसार आरोपी जिले के आसापास अकेली महिलाओं को खेत या खुले में शौच के दौरान अपना निशाना बनाता था। उसके डर का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि महिलाओं ने बलात्कार के डर अकेले घर से जाना बंद कर दिया।
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले में चौंकाने वाली वारदात सामने आई है। यहां पुलिस ने 15 साल की उम्र में पहली बार बलात्कार करने वाले 24 वर्षीय एक युवक को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपी बबलू कुमार ने बताया कि वह अब तक 15 महिलाओं और नाबालिगों को हवस का शिकार बना चुका है। रिपोर्ट के अनुसार, आरोपी ने पहली बार रेप की वारदात को साल 2009 में अंजाम दिया। तब उसने महज छह साल की मासूम को बच्ची को अपना शिकार बनाया। पकड़े जाने पर पुलिस ने तब उसे बाल सुधार गृह भेजा था।

पुलिस के अनुसार, आरोपी अकेली महिलाओं को खेत या खुले में शौच के दौरान अपना निशाना बनाता था। उसका खौफ कितना ज्यादा था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि महिलाओं ने बलात्कार के डर से अकेले घर से निकलना बंद कर दिया था। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, परिवार में सबसे बड़ा बबलू कुमार कथित तौर पर अपनी चचेरी बहन को भी हवस का शिकार बना चुका है।

पुलिस शिकार बनाता। बीते सोमवार (12 फरवरी, 2018) को अमरोहा के हसनपुर में पेट्रोल पंप के नजदीक पुलिस को आरोपी के बाइक पर होने की सूचना मिली। इस दौरान भागने की कोशिश कर रहे बबलू को पुलिस ने दबोच लिया।

मामले में हसनपुर स्टेशन हाउस ऑफिसर देवेंद्र शर्मा ने बताया, “बबलू कुमार के खिलाफ हसनपुर में कुल सात केस दर्ज किए गए हैं। इनमें तीन बलात्कार के मामले भी शामिल हैं। साल में 2009 नाबालिग बच्ची से बलात्कार का आरोप भी इसी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया था। आरोपी करीब तीन साल जेल में भी बिता चुका है। साल 2012 में बाहर आने के बाद उसने 2014 में दो महिलाओं से दुष्कर्म किया। तब उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा गया, लेकिन साल 2015 में वह जमानत पर बाहर आ गया। आरोपी के खिलाफ रेप के दो मामले अभी दर्ज हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.