ताज़ा खबर
 

तीन सर्वे, अनुमान एक- मोदी का 2019 में फिर PM बनना मुश्किल, ट्वीट पर वरिष्ठ पत्रकार ट्रोल

पत्रकार ने अपने पोस्ट में उन्होंने इंडिया टीवी, इंडिया टुडे और एबीपी न्यूज के चुनावी पोल्स का हवाला देते हुए आशंका जताई कि मोदी 2019 में पीएम की गद्दी पर नहीं बैठ पाएंगे।

पत्रकार आशुतोष कुछ समय आम आदमी पार्टी में भी रहे हैं। (फोटोः टि्वटर/ashutosh83B)

वरिष्ठ पत्रकार और आम आदमी पार्टी (आप) के पूर्व नेता आशुतोष एक ट्वीट के चलते हाल ही में सोशल मीडिया पर ट्रोल कर दिए गए। उन्होंने ट्वीट किया था, “तीन चुनाव सर्वे, अनुमान एक- नरेंद्र मोदी का 2019 में फिर प्रधानमंत्री बनना मुश्किल है।” इस पोस्ट में उन्होंने इंडिया टीवी, इंडिया टुडे और एबीपी न्यूज के चुनावी पोल्स का हवाला देते हुए आशंका जताई कि मोदी 2019 में पीएम की गद्दी पर नहीं बैठ पाएंगे।

दरअसल, इन चुनावी सर्वेक्षणों में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार को 100 सीटों के नुकसान का दावा किया गया। लोकसभा की 543 सीटों में से इंडिया टीवी के पोल में एनडीए को 245, इंडिया टुडे के सर्वे में 237 और एबीपी न्यूज के सर्वेक्षण में 233 मिलने की संभावना जताई गई। बता दें कि 2014 के आम चुनाव में एनडीए को 336 सीटें आई थीं। यानी इस हिसाब से पार्टी को करीब 100 सीटों का नुकसान होगा।

पत्रकार ने ट्वीट में सर्वेक्षणों के आधार पर गढ़ी गई खबर शेयर की थी, उसमें चुनाव के दौरान किसी भी दल को बहुमत न मिलने की बात कही गई थी। संभावना जताई गई थी कि क्षेत्रीय पार्टियां ‘किंग मेकर’ के रूप में उभर कर आएंगी। कारण- इन्हीं के समर्थन से एनडीए और यूपीए की सरकार बनने का रास्ता साफ होगा।

किसी शख्स ने आशुतोष को निशाने पर लिया, तो कोई इन सर्वों पर ही सवालिया निशान लगाते दिखा। देखें, आशुतोष के ट्वीट पर लोगों की प्रतिक्रियाएं:

याद दिला दें कि आशुतोष ने 14 अगस्त 2018 को पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, पीएसी ने उनका त्यागपत्र नहीं कबूला। आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जवाब में कहा था- हम कैसे आपका इस्तीफा स्वीकार सकते हैं? न, इस जन्म में यह संभव नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App