ताज़ा खबर
 

नोटबंदी के खिलाफ खड़े नेताओं पर ट्विटर यूजर्स का फूटा गुस्सा, कहा- सारे चोर मचाएं शोर

नोटबंदी को लेकर देश में चर्चा हो रही है। मोदी सरकार के इस कदम को सही और गलत दोनों बताने वाले आम लोग और नेता मौजूद हैं।
शनिवार (19 नवंबर) को सोशल मीडिया पर #सारे_चोर_मचाये_शोर ट्रेंड कर रहा था।

नोटबंदी को लेकर देश में चर्चा हो रही है। मोदी सरकार के इस कदम को सही और गलत दोनों बताने वाले आम लोग और नेता मौजूद हैं। किसी को लगता है कि इससे आने वाले दिनों में सब ठीक हो जाएगा, तो कोई इसे काले धन पर कड़ा प्रहार मानता है। कई लोग तो लाइन में लगकर भी कहते हैं कि हम खुश हैं कि देश बदलेगा। सोशल मीडिया पर भी लोग बंटे हुए नजर आते हैं। शनिवार (19 नवंबर) को सोशल मीडिया पर #सारे_चोर_मचाये_शोर ट्रेंड कर रहा था। इसपर लोग नोटबंदी के फैसले का समर्थन करते हुए इसके खिलाफ बोल रहे लोगों को राजनीति करने वाला करार कर रहे थे। किसी ने लिखा, ‘मोदीजी तो दिन-रात भारत मां को विश्वगुरु बनाने की कोशिश में लगे हैं पर देश के कुछ नेता उनकी राह में रोड़े अटका रहे हैं’ तो किसी ने लिखा, ‘पहले tv पर अमिताभ खिलाते थे कौन बनेगा करोड़पति,
अब मोदी जी खिला रहे हैं कौन बचेगा करोड़पति’ किसी-किसी ने तो केजरीवाल और ममता का नाम लेकर दोनों को ही ‘चोर’ बता दिया।

नोटबंदी पर विपक्ष लगातार मोदी सरकार को घेरने की कोशिश में लगा है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने 55 व्यक्तियों की एक सूची जारी की जिन्होंने उच्च मूल्य के नोट चलन से बाहर होने के मद्देनजर बैंकों एवं एटीएम के बाहर पंक्ति में खड़े रहने के दौरान अपनी जान गंवाई। रणदीप सुरजेवाला ने उन सबके परिवारों को मुआवजे के साथ ही उनकी मौत की जांच की भी मांग की। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘तानाशाह प्रधानमंत्री के कठोर निर्णय के चलते 55 मौतें हुईं। इसके लिए कौन जिम्मेदार है? प्रधानमंत्री को उन व्यक्तियों के परिवारों से माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने अपनी जान गंवाई और उन्हें देश से भी माफी मांगनी चाहिए। यह उनके असंगत निर्णय के चलते हुआ।’

इसके अलावा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोटबंदी के खिलाफ एकजुट होकर दिल्ली की आजादपुर मंडी में प्रदर्शन किया था। ममता बनर्जी ने शिवसेना के नेताओं के साथ मिलकर राष्ट्रपति भवन तक एक किलोमीटर का पैदल मार्च भी किया था। उन्होंने नोटबंदी का फैसला वापस लेने के लिए राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा था।

#सारे_चोर_मचाये_शोर ट्रेंड पर ऐसे-ऐसे ट्वीट आ रहे हैं –