डिबेट में संबित पात्रा बोले- अंजना जी मैं डॉक्टर हूं, राजीव त्यागी को वहां मरहम लगा दूंगा कि मुश्किल में पड़ जाएंगे

राजीव त्यागी और संबित पात्रा की बहस देख शो की एंकर अंजना ओम कश्यप दखल देकर उन्हें भाषाई मर्यादा बनाए रखने के लिए टोकती दिखाई देती हैं। वीडियो में राजीव त्यागी बर्नौल लगाने की बात कहते हुए दिखते हैं कि तभी संबित पात्रा पलटवार करते हुए कहते हैं, ”अंजना जी मैं डॉक्टर हूं, मेरे पास ऐसे-ऐसे ऑइंटमेंट हैं.. राजीव त्यागी को वहां-वहां लगा दूंगा कि मुश्किल में पड़ जाएंगे..।”

sambit patra, ranjita ranjan, rahul gandhi, pm modi, Narendra modi, Rahul hugs modi, bjp, congress, trending news, Hindi news, Jansatta
बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा की फाइल फोटो।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता संबित पात्रा और कांग्रेस प्रवक्ता राजीव त्यागी के बीच एक लाइव टीवी डिबेट में इस कदर जुबानी जंग छिड़ी कि दोनों एक दूसरे को मरहम लगाने की बात कहने लगे। दोनों नेताओं ने समाचार चैनल आजतक पर बुधवार (5 सितंबर) को हुई डिबेट में हिस्सा लिया था। इस डिबेट का करीब डेढ़ मिनट का वह हिस्सा यूट्यूब चैनल पर शेयर किया गया है जिसमें दोनों नेताओं के बीच जमकर बहस देखी जा रही है। राजीव त्यागी और संबित पात्रा की बहस देख शो की एंकर अंजना ओम कश्यप दखल देकर उन्हें भाषाई मर्यादा बनाए रखने के लिए टोकती दिखाई देती हैं। वीडियो में राजीव त्यागी बर्नौल लगाने की बात कहते हुए दिखते हैं कि तभी संबित पात्रा पलटवार करते हुए कहते हैं, ”अंजना जी मैं डॉक्टर हूं, मेरे पास ऐसे-ऐसे ऑइंटमेंट हैं.. राजीव त्यागी को वहां-वहां लगा दूंगा कि मुश्किल में पड़ जाएंगे..।” यही नहीं संबित पात्रा आगे कहते हैं, ”मुंह के बवासीर वाली औषधि है मेरे पास.. मुंह में बवासीर हो जाए तो लगाते हैं..।” एंकर के द्वारा भाषा पर सवाल उठाए जाने पर संबित पात्रा सफाई दे ही रहे होते हैं कि राजीव त्यागी कहने लगते हैं कि प्यार से बर्नौंल लगाऊंगा। इस पर संबित पात्रा एक बार फिर मुंह के बवासीर में ऑइंटमेंट लगाने की बात दोहराते दिखाई देते हैं।

बता दें कि डिबेट 6 सितंबर (गुरुवार) को सवर्णों के द्वारा बुलाए जाने वाले भारत बंद के मुद्दे पर रखी गई थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश को पटलने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा एससी/एसटी कानून में संशोधन के खिलाफ कुछ सवर्ण संगठनों ने ‘भारत बंद’ का आह्मवान किया है। पिछली बार एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में दलित संगठनों ने 2 अप्रैल को भारत बंद बुलाया था। उस वक्त हिंसा के कई मामले सामने आए थे।

सबसे ज्यादा हिंसा मध्य प्रदेश के ग्वालियर और चंबल हुई थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बार प्रशासन किसी भी तरह की घटना से निपटने के लिए एकदम सतर्क है। रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत बंद को देखते हुए एहतियातन मध्य प्रदेश के तीन जिलों मुरैना, भिंड और शिवपुरी में धारा 144 लगा दी गई है, जोकि अगले दिन यानी 7 सितंबर तक प्रभावी रहेगी।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
पुल‍िस अफसर ने एक खास मकसद से द‍िया ट्रैफ‍िक न‍ियम तोड़ने का आदेश, न‍िकले चौंकाने वाले नतीजे
अपडेट
X