ताज़ा खबर
 

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी के बयान पर जयंत चौधरी की चुनौती- जाटों के गांव में आकर ये बात दोहरा दीजिए

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने अपने एक बयान में शनिवार को कहा कि जाटों के गांव में जो सबसे ज्यादा दारू पीता है और जो सबसे ज्यादा कमजोर होता है वो ही सरपंच को चैलेंज करता है, ये वैसी ही स्थिति है।

रालोद नेता जयंत चौधरी। (image source-Facebook)

दिल्ली से भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने शनिवार को अपने एक बयान में जाटों को लेकर एक टिप्पणी की थी। मीनाक्षी लेखी के बयान पर अब रालोद नेता जयंत चौधरी ट्वीट किया है और मीनाक्षी लेखी को लगभग चुनौती देते हुए कहा है कि ‘जरा जाटों के गांव में आकर ये बात दोहरा दीजिए!!’ बता दें कि बीते दिनों कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुली बहस की चुनौती दी थी। राहुल गांधी के इस बयान पर भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने अपने एक बयान में शनिवार को कहा कि जाटों के गांव में जो सबसे ज्यादा दारू पीता है और जो सबसे ज्यादा कमजोर होता है वो ही सरपंच को चैलेंज करता है, ये वैसी ही स्थिति है।

मीनाक्षी लेखी ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह के मुद्दे पर आरजेडी के विरोध प्रदर्शन और राहुल गांधी द्वारा इस विरोध प्रदर्शन को अपना समर्थन देने पर कहा कि ‘हम जानते हैं कि राहुल गांधी के प्रदर्शनों में क्या होता है, उनमें तो प्रियंका गांधी को भी सुरक्षा का आश्वासन नहीं दिया जा सकता है। अब तेजस्वी यादव भी इसका हिस्सा हैं, यहां कोई महिला सुरक्षित नहीं है।’ यही वजह है कि मीनाक्षी लेखी द्वारा जाटों का अपने बयान में शामिल करने पर जयंत चौधरी ने भाजपा सांसद पर निशाना साधा है। गौरतलब है कि जाटों को उत्तर प्रदेश में रालोद का वोटबैंक माना जाता है और माना जा रहा है कि यही वजह है कि जयंत चौधरी ने मीनाक्षी लेखी के बयान पर आपत्ति दर्ज करायी है।

वहीं सोशल मीडिया पर भी मीनाक्षी लेखी को अपने बयान के लिए आलोचना झेलनी पड़ रही है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के कैराना में हुए उप-चुनावों में रालोद के उम्मीदवार को जीत मिली थी। हालांकि इस जीते के पीछे सपा और बसपा का समर्थन भी था। लेकिन कैराना में मिली जीत के बाद रालोद एक बार फिर से खुद को उत्तर प्रदेश की राजनीति में प्रासंगिक करने की कोशिशों में जुटी है और जयंत चौधरी का मीनाक्षी लेखी पर निशाना साधना उन्हीं कोशिशों का एक हिस्सा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App