ताज़ा खबर
 

VIDEO: तेजस्वी यादव का दावा- नीतीश कुमार के पार्टी दफ्तर में उल्टा फहराया गया तिरंगा

तेजस्वी यादव ने तिरंगा उल्टा फहराने के लिए नीतीश कुमार से माफी की मांग की है। तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ' बिहार सीएम नीतीश कुमार के पार्टी कार्यालय में फहराया गया उल्टा झन्डा। समाज से पहले अपनी पार्टी को तो सुधार लेते।'

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और सीएम नीतीश कुमार।

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने दावा किया है कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार के पार्टी दफ्तर में तिरंगा उल्टा फहराया गया। तेजस्वी यादव ने इस बावत ट्वीट किया है और वीडियो पोस्ट किया है। तेजस्वी यादव ने तिरंगा उल्टा फहराने के लिए नीतीश कुमार से माफी की मांग की है। तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ‘ बिहार सीएम नीतीश कुमार के पार्टी कार्यालय में फहराया गया उल्टा झन्डा। समाज से पहले अपनी पार्टी को तो सुधार लेते। अगर कोई और गलती से ऐसा कर देता तो नीतीश जी अपने विचित्र रोबोटिक प्रवक्ताओं के मुँह से विचित्र मुँह बनवाकर अपने शब्दों का बेसुरा ढोल पिटवाते।’ 47 सेकेंड के इस वीडियो में दिख रहा है कुछ लोग तिरंगा झड़ा फहरा रहे हैं। वीडियो से यह पुष्टि नहीं हो पा रही है कि यह कब का है, ना ही इसमें झंडा फहराने के जगह की पुष्टि हो पा रही है। जैसे ही तिरंगा फहराने के लिए रस्सी खीचीं जाती है झंडा खुल जाता है, और उसमें बंधे पुष्ट नीचे गिर जाते हैं। लोग राष्ट्रगान गा रहे होते हैं, तभी किसी की नजर ऊपर पड़ती है। भीड़ से आवाज आती है कि झंडा उल्टा है, इस बीच कई लोग कहने लगते हैं कि झंडा उल्टा है।

वीडियो में अंत में दिखता है कि लोग झंडे को नीचे उतार रहे हैं। तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर तंज कसा है, ‘नीतीश कुमार और पार्टी पलटी मारने में इतनी विशेषज्ञ है कि इन्होंने हमारे प्यारे तिरंगे को ही पलट दिया। नीतीश कुमार सीधा 360 डिग्री पर घुमकर लोगों को घुमाते है।’ बता दें कि तेजस्वी यादव राज्य की बीजेपी-जेडीयू सरकार के खिलाफ 9 फरवरी से ‘न्याय यात्रा’ की शुरुआत करने वाले हैं। इस यात्रा की शुरुआत बिहार के पूर्णिया से होगी।  तेजस्वी ने इस यात्रा की जानकारी देते हुए कहा कि इस यात्रा के दौरान हम पार्टी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के साथ हो रहे अन्याय को जनता के बीच रखेंगे। उन्होंने कहा कि लालू के साथ अन्याय हुआ है और यह सभी जानते हैं।


तेजस्वी के जद (यू) के प्रवक्ताओं को रोबोटिक कहने पर जेडीयू ने हमला किया है। पार्टी प्रवक्ता नीरज कुमार ने पलटवार करते हुए कहा कि महात्मा अष्टावक्र का शरीर आठ जगहों से टेढ़ा था परंतु उनके शास्त्रार्थ के सामने कोई नहीं टिक सका था। इसलिए कम से कम अपने भाई तेजप्रताप से ही अध्यात्म की सीख लें कि किसी के अंग और सुर की नहीं, उसके द्वारा उठाए गए प्रश्नों की ओर देखना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App