ताज़ा खबर
 

तेजस्वी यादव का सीएम नीतीश पर बड़ा हमला, बोले- कुर्सी के प्यारे, बिहार के हत्यारे, हुए ट्रोल

दिनों-दिन तेजस्वी का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला तेज होता जा रहा है। रामनवमी के आसपास बिहार में करीब दर्जनभर जिलों में हुए दंगों के लिए तेजस्वी ने मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराया था और बीजेपी के हाथों कठपुतली बनने का आरोप लगाया था।
तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है और उन्हें कुर्सी का प्यारा और बिहार का हत्यारा करार दिया है।

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री और जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है और उन्हें कुर्सी का प्यारा और बिहार का हत्यारा करार दिया है। तेजस्वी ने आज (05 अप्रैल को) सोशल मीडिया पर एक कार्टून शेयर करते हुए लिखा है, “नीतीश का कुर्सी से लगाव, बिहार में चहुँ ओर दंगा-फ़साद।” इसके साथ ही जो कार्टून शेयर किया गया है उस पर लिखा है, “कुर्सी के प्यारे-बिहार के हत्यारे।” बता दें कि दिनों-दिन तेजस्वी का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला तेज होता जा रहा है। रामनवमी के आसपास बिहार में करीब दर्जनभर जिलों में हुए दंगों के लिए तेजस्वी ने मुख्यमंत्री को जिम्मेदार ठहराया था और बीजेपी के हाथों कठपुतली बनने का आरोप लगाया था।

तेजस्वी के इस ट्वीट पर कई लोगों ने प्रतिक्रिया दी है। अधिकांश लोगों ने उन्हें ट्रोल किया है। हालांकि, कुछ यूजर्स ने तेजस्वी के पक्ष में भी कमेंट किया है। एक यूजर ने लिखा है, “#दौर-ए-मोदी में कहाँ कोई #इंसान_नज़र आता है.. कोई #हिन्दू कोई #दलित तो कोई #मुसलमान नज़र आता है..” दूसरे यूजर ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए लिखा है, “सब जानते हैं कि दंगे तू करा रहा है अपनी डर्टी पॉलिटिक्स के लिए।” एक अन्य यूजर ने भी लिखा है, “आप लोग को कुर्सी के पीछे बिहार में
चारों ओर दंगा ,फसाद कर रहे हैं और नाम श्रीमान जी का लगा रहे हैं।”

रामनवमी से पहले भागलपुर में 17 मार्च को हिन्दू नववर्ष शुरू होने की पूर्व संध्या पर निकाले गए जुलूस के बाद वहां साम्प्रदायिक तनाव फैल गया था। इस मामले में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत चौबे को आरोपी बनाया गया था। उन पर बिना इजाजत के जुलूस निकालने का आरोप लगा था। कोर्ट से वारंट जारी होने के बावजूद अर्जित ने सरेंडर नहीं किया था। तब भी तेजस्वी ने सीएम नीतीश पर असहाय होने का आरोप लगाया था।