ताज़ा खबर
 

मार्कण्डेय काटजू ने माओत्से तुंग की बीवी से की अरविंद केजरीवाल की तुलना

एक पोस्ट में काटजू ने एक गाने की पंक्तियां शेयर की हैं, "तेरे करीब जो आने लगे/ तो टूटे हैं सारे भरम/ खुदाया ये कैसा करम?"

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के नेताओं को सार्जवनिक बयानबाजी न करने के लिए कहा है।

आम आदमी पार्टी के अंदर चल रही घमासान के बीच सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मार्कण्डेय काटजू भी कूद पड़े हैं। जस्टिस काटजू ने एक फेसबुक पोस्ट में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तुलना चीन के पूर्व राष्ट्रपति माओत्से तुंग की पत्नी चियांग चिंग की “चंडाल चौकड़ी” (गैंग ऑफ फोर) से की है। काटजू ने लिखा है, “माओत्से तुंग की पत्नी चियांग चिंग की चंडाल चौकड़ी (गैंग ऑफ फोर) थी वैसे ही अरविंद केजरीवाल की है। अब कुमार विश्वास ने इसकी पुष्टि कर दी है।” जस्टिस काटजू ने ये पोस्ट बुधवार (तीन मई) को तड़के 3.44 बजे किया है। हालांकि एक कमेंट के जवाब में जस्टिस काटजू ने बताया है कि उन्होंने कनाडा के वैंकूवर से वहां के समय के अनुसार दोपहर करीब 3.30 बजे पोस्ट की।

दिल्ली महानगर पालिका (एमसीडी) चुनाव के बाद आम के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास ने एक निजी टीवी चैनल में पार्टी प्रमुख और सीएम अरविंद केजरीवाल पर चापलूसों से घिरे होने का आरोप लगाया था। वहीं आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह खान ने विश्वास पर भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से मिले होने और पार्टी को तोड़ने की कोशिश करने का आरोप लगाया था।

हाल ही में हुए दिल्ली महानगर पालिका चुनाव में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी को भाजपा के हाथों करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा। साल 2015 में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की कुल 70 विधान सभा सीटों में से 67 पर जीत हासिल की थी लेकिन एमसीडी चुनाव में वो पिछले 10 सालों से चले रहे भाजपा के वर्चस्व को नहीं तोड़ सकी। दिल्ली एमसीडी चुनाव में भाजपा ने 184, आप ने 46, कांग्रेस ने 30 और बाकी 10 सीटें अन्य ने जीतीं।

चुनाव के नतीजे आने के बाद जस्टिस काटजू ने फेसबुक पर आम आदमी पार्टी सरकार से इस्तीफे की मांग कर डाली। जस्टिस काटजू ने एक पोस्ट में लिखा था, “एमसीडी चुनाव में आम की भारी हार के बाद उसे इस्तीफा दे देना चाहिए और दिल्ली में फिर से विधान सभा चुनाव करवाए जाने चाहिए। जनता का आम आदमी को संदेश है कि लोकतंत्र में जनता की भावनाओं का प्रतिनिधित्व करने वाली ही विधायिका होनी चाहिए।”

जस्टिस काटजू ने आम आदमी पार्टी को एमसीडी चुनाव में मिली हार के अपने फेसबुक पर  कटाक्ष करते हुए गीत और शेर भी शेयर किए हैं। एक पोस्ट में काटजू ने एक गाने की पंक्तियां शेयर की हैं, “जनता का आम आदमी पार्टी के लिए संदेश- तेरे करीब जो आने लगे/ तो टूटे हैं सारे भरम/ खुदाया ये कैसा करम?” ये पंक्तियां हाल ही में आई फिल्म “सनम रे” के एक गीत की पंक्तियां हैं। जस्टिस काटजू ने एक अन्य पोस्ट में लिखा है, “जनता का आम आदमी पार्टी के लिए विदाई संदेश है- फस्ल-ए-बहार आई, पियो सूफियों शराब/ बस हो चुकी नमाज मुसल्ला उठाइए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X