ताज़ा खबर
 

‘पीएम मोदी ने रामदेव की बूटी क्यों नहीं ली?’ कोरोना टीकाकरण पर रवीश कुमार ने पूछा सवाल, आने लगे ऐसे कमेंट्स

Ravish Kumar ने लिखा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने अपने लिए टीका का चुनाव कर बता दिया कि जिसे बूटी बेचना है बेचे वो नहीं लेने वाले। लेकिन क्या यह प्रधानमंत्री को शोभा देता है कि ख़ुद टीका ले लें और रामदेव (Swami Ramdev) को बूटी बेचने दें?

Author March 2, 2021 10:20 AM
Pm Modi Corona Vaccine, Baba Ramdev coronilNDTV के रवीश कुमार ने बाबा रामदेव की कोरोना वाली दवाई को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। (Photos: Social Media)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह समेत कई मुख्यमंत्रियों ने कोरोना का टीका लगवा लिया है। पीएम मोदी ने टीका लगवाने के बाद अपनी तस्वीर भी शेयर की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एम्स में अपना टीकाकरण करवाया। वहीं गृहमंत्री अमित शाह ने निजी अस्पताल जाकर वैक्सीन लगवाई। वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने पीएम मोदी समेत उन तमाम राजनेताओं पर तंज कसते हुए लिखा है कि इन लोगों ने रामदेव की कोरोना वाली बूटी क्यों नहीं ली। वैक्सीन ही क्यों लगवाया?

रवीश कुमार ने सोशल मीडिया में एक पोस्ट लिखा है। इस पोस्ट में उन्होने लिखा है कि इस पर सवाल होना चाहिए कि प्रधानमंत्री, गृहमंत्री या तमाम मुख्यमंत्रियों ने रामदेव की दवा क्यों नहीं ली? रामदेव की दवा का लॉन्च कराने दो-दो कैबिनेट मंत्री गए थे। परिवहन मंत्री नितिन गड़करी और स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन। जो दवा मंत्री जनता के लिए लॉन्च करा रहे हैं वो ख़ुद क्यों नहीं ले रहे हैं। नितिन गड़करी और हर्षवर्धन को कहना चाहिए था कि वे टीका नहीं लेंगे। रामदेव की बूटी लेंगे।

रवीश कुमार ने आगे लिखा- पूरे दिन यह सवाल ग़ायब रहा कि प्रधानमंत्री से लेकर तमाम मुख्यमंत्रियों ने रामदेव की बूटी को नकार दिया और टीके पर भरोसा किया। तो क्या रामदेव की बूटी उन लोगों के लिए है जिन्हें बहकाया जा सकता है कि बाबा ने बनाया है तो आज़मा लेते हैं। इसमें ख़राबी क्या है। इस धंधे में पैसा कौन कमा रहा है। किसके विश्वास से छल कर कमा रहा है।

रवीश कुमार ने आगे लिखा- अगर बूटी में दम है तो फिर सबको वही दवा लेनी चाहिए। क्यों टीके पर हज़ारों करोड़ ख़र्च किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने अपने लिए टीका का चुनाव कर बता दिया कि जिसे बूटी बेचना है बेचे वो नहीं लेने वाले। लेकिन क्या यह प्रधानमंत्री को शोभा देता है कि ख़ुद टीका ले लें और रामदेव को बूटी बेचने दें?

रवीश कुमार के इस पोस्ट पर लोगों की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कुछ लोग रवीश की बातों से सहमति जता रहे हैं तो वहीं कुछ यूजर्स उन्हें ट्रोल कर रहे हैं। ट्रोल करने वाले लिख रहे हैं कि पीएम के वैक्सीनेशन पर रवीश ऐसे नाराज हो रहे हैं जैसे कोई जेठानी तब नाराज होती है जब उसका देवर सिर्फ अपनी पत्नी के लिए जलेबी का दोना ले आए।

Next Stories
1 तुम्हारी बखिया उधेड़ दूंगी- संबित पात्रा से बोलीं कांग्रेस प्रवक्ता तो मिला ज़वाब, मुझे भगवान राम बचाएंगे जैसे रामायण में…
2 ‘मैं दुबला हो गया हूं, बाल भी उड़ गए हैं..’, रवीश कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी को खुला खत लिख कसा तंज, वायरल हो रहा लेटर
ये पढ़ा क्या?
X