ताज़ा खबर
 

राम रहीम अपने पुरुष सेवादारों को ‘काली गोली’ देकर बना देता था नपुंसक, फिर करवाता था ये काम

नपुंसक बनाए जाने के बाद सेवादारों को एक नया नाम दिया जाता है।

सीबीआई न्यायाधीश जगदीप सिंह ने बलात्कार के 15 साल पुराने मामले में गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया है। (PTI)

दो साध्वियों से रेप के मामले में दोशी करार गुरमीत राम रहीम सिंह के एक पुराने सेवादार ने खुलासा किया है कि बाबा अपने पुरुष चेलों को नपुंसक बना देता था। इस बात का खुलासा करने वाले सेवादार का नाम हंसराज है। हंसराज का दावा है कि राम रहीम धोखे से अपने कई सेवादार को नपुंसक बना चुका है। हंसराज ने धोखे से नपुंसक बनाए जाने के मामले को लेकर हाईकोर्ट में अपनी याचिका भी दी है। इस याचिका पर 25 अक्टूबर को सुनवाई होगी। सेवादार हंसराज ने कहा कि राम रहीम शुरुआत में कुछ दिनों तक उसे एक काली गोली देता रहा। इसके बाद उसका ब्रेन वॉश किया गया फिर बहला फुसलाकर ऑपरेशन से नपुंसक बना दिया गया। हंसराज को 17 साल पहले नपुंसक बनाया गया। एक टीवी चैनल पर उन्होंने राम रहीम के बारे में कई चौकानेवाले खुलासे किये।

हंसराज के मुताबिक राम रहीम 16-17 साल में ही अपने सेवादारों को नपुंसक बना देता है। जिसके बाद उन्हें वो अपने हरम की सुरक्षा में लगाता है। राम रहीम का ये वही हरम है जिसे लोग गुफा के नाम से जानते हैं। बताया जाता है वहां हर वक्त राम रहीम की देखभाल करने के लिए 200 से ज्यादा सेविकाएं मौजूद रहती हैं।

हंसराज ने कहा राम रहीम ने धोखे से अपने 400 सेवादारों को नपुंसक बनाया है। उन्होंने कहा उन्हें नपुंसक बनाए जाने के बाद सेवादारों को एक नया नाम दिया जाता है। जिसमें उन्हें ब्रह्मचारी सेवादार के नाम से पुकारा जाता है। हंसराज भी 15 साल की उम्र में डेरा से जुड़े थे। जिसके बाद 17 साल की उम्र में उन्हें नपुंसक बना दिया गया। उन्हें 2000 में नपुंसक बनाया गया था। उन्होंने कहा राम रहीम की सोच आतंकी जैसी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App