नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने गलत जगह पंगा ले लिया है, सिखा देंगे सबक – बोले राकेश टिकैत, कहा- हमारा इतिहास लड़ते रहने का है

राकेश टिकैत ने अपनी पिछली पीढ़ियों का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे बाप – दादा… हमारी पिछली 10 पीढी़ यही काम करती आई है।

Modi Govermnet, Home Minister
गृहमंत्री अमित शाह और पीएम नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स – पीटीआई)

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत की अगुवाई में किसानों ने हरियाणा के करनाल में अपना धरना जारी रखा है। एसडीएम आयुष सिन्हा के खिलाफ कार्रवाई और मामले की जांच को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने बुधवार को स्थानीय प्रशासन के साथ बातचीत की लेकिन यह बातचीत बेनतीजा रही। किसान नेता राकेश टिकैत ने इस मामले पर कहा है कि मोदी और शाह ने गलत जगह पंगा ले लिया है। हम उन्हें सबक सिखा देंगे।

किसान नेता राकेश टिकैत ने रिपोर्टर के एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि सरकार ने गलत जगह हाथ डाल दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने यहां का भूगोल नहीं पढ़ा, इस क्षेत्र का इतिहास नहीं पढ़ा। अगर यहां की जनता खड़ी होगी तो सरकारों को मुंह की खानी पड़ेगी। उन्होंने सीधा केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जो गलत कानून बनाए गए हैं, वह इनको वापस लेने पड़ेंगे।

उन्होंने कहा कि किसान इन्हें छोड़ेंगे नहीं। टिकैत ने अपनी पिछली पीढ़ियों का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे बाप – दादा… हमारी पिछली 10 पीढी़ यही काम करती आई है। हमने यहां पर कोई बिल्डिंग और फॉर्म नहीं बनाए हैं। हमने तो हमेशा से ही आंदोलन किया है और जीतेते हुए उसे छोड़ते चले गए।

उन्होंने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले इनका इतिहास पढ़ लेना था। उसके बाद एग्रीकल्चर पर हाथ डालना था। जब उनसे सवाल पूछा गया कि इस मामले को क्यों खट्टर सरकार तक ही देखा जाए। इसमें दिल्ली तक की चेन मिली हुई है? इसके जवाब में राकेश टिकैत ने कहा कि इनका लीडर अमित शाह है। वह जो कहते हैं वही होता है।

जानकारी के लिए बता दें कि कृषि कानूनों के विरोध में बैठे किसानों पर शनिवार को लाठीचार्ज किया गया था। जिसमें लगभग 10 किसानों को चोट आई थी। जिसमें एक किसान की मौत भी हो गई थी, किसानों का आरोप है कि पुलिस की वजह से ही किसान की जान गई है। जिसके बाद करनाल के एसडीएम आयुष का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें वह पुलिस कर्मियों को आदेश दे रहे थे कि अगर किसान आगे जाएंगे तो लाठी से उनका सिर फोड़ देना।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट