scorecardresearch

योगी आदित्यनाथ सरकार को राकेश टिकैत की धमकी – अपना दिमाग ठीक कर ले, लोग बोले – यूपी में बाबा हैं

किसान नेता के बयान पर सोशल मीडिया यूज़र योगी आदित्यनाथ का नाम लेते हुए कई तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

योगी आदित्यनाथ सरकार को राकेश टिकैत की धमकी – अपना दिमाग ठीक कर ले, लोग बोले – यूपी में बाबा हैं
किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटो – पीटीआई)

यूपी के लखीमपुर खीरी में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने 31 किसान संगठनों के साथ 18 अगस्त यानी गुरुवार से 75 घंटे का धरना प्रदर्शन शुरू किया है। यह धरना प्रदर्शन केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी और उत्तर प्रदेश में किसानों के ऊपर दर्ज हुए मुकदमे को रद्द करने की मांग को लेकर रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने योगी आदित्यनाथ सरकार को धमकी देते हुए कहा कि सरकार अपना दिमाग ठीक कर ले। टिकैत के बयान पर सोशल मीडिया यूजर्स भी कई तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

राकेश टिकैत का बयान

किसान नेता राकेश टिकैत ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर में योगी आदित्यनाथ सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि वह अपना दिमाग ठीक कर ले। यहां का प्रशासन अपना दिमाग ठीक कर के काम कर ले, यहां पर पानी और शौचालय की व्यवस्था कर दे। हम यहां पर 75 घंटे रहेंगे और सुविधा नहीं दी जाएगी तो हम सुविधा लेना जानते हैं। इसके साथ ही उन्होंने धमकी भरे लहजे में कहा कि सरकार व्यवस्था कर दे, नहीं तो यूपी के सभी कलेक्ट्रेट बंद करा देंगे।

किसान नेता के बयान पर लोगों की प्रतिक्रियाएं

संतोष सिंह नाम के एक ट्विटर यूजर कमेंट करते हैं कि, ‘सरकार समझती है कि गरजने वाले बरसते नहीं, एमएसपी पर सरकार ने कोई फैसला नहीं लिया है और अभी भी भ्रम की स्थिति बनी हुई है। न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों के साथ ईमानदारी के साथ कौन खड़ा है?’ शिवम द्विवेदी नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं – चाचा भूल गए हैं कि वह उत्तर प्रदेश में हैं। अभिनव शुक्ला पूछते हैं कि अरे राकेश टिकैत जी, बुलडोजर कार्रवाई नहीं देखे हैं क्या? विपिन सिंह नाम के एक यूजर योगी आदित्यनाथ को टैग करते हुए लिखते हैं, ‘अरे महोदय आप को धमकी दी जा रही है, कुछ तो करिए।’

कुणाल गौतम नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि लग रहा है योगी जी को एक्शन में आना पड़ेगा, इन जैसे लोगों को ठीक करने के लिए। राजकुमार यादव नाम के एक यूजर ने कमेंट किया, ‘योगी आदित्यनाथ का नाम भूल जाते हैं क्या? दिल्ली की सरकार नहीं है।’ राज मोहन सिंह नाम के एक यूजर कमेंट करते हैं कि आप कितना भी धरना प्रदर्शन कर लीजिए लेकिन योगी आदित्यनाथ सरकार सुनने वाली नहीं है। रवींद्र शुक्ला नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं, ‘अरे यहां पर तो बाबा है, जरा संभल कर आइए।’

भारतीय किसान यूनियन ने सरकार से की है यह मांग

भारतीय किसान यूनियन और संयुक्त किसान मोर्चा से जुड़े कई किसान संगठनों की मांग है कि पिछले साल 3 अक्टूबर को जिले के तिकोनिया इलाके में भड़की हिंसा के दौरान लखीमपुर खीरी में 4 किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा टेनी को बर्खास्त किया जाए। जिसमें उनके बेटे आशीष मिश्रा मुख्य आरोपी हैं। इसके साथ किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज हुए मुकदमे वापस लिए जाएं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.