scorecardresearch

आपको अपने गन्ने का पैसा मिल गया क्या? लाइव टीवी पर राकेश टिकैत ने गन्ना मंत्री से पूछा सवाल तो मिला कुछ ऐसा जवाब

किसान नेता राकेश टिकैत ने यूपी के गन्ना मंत्री सुरेश राणा से सवाल पूछा कि आपको अपने गन्ने का भुगतान मिला क्या

BKU Leader Rakesh Tikait
बीकेयू नेता राकेश टिकैत (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश में बहुतायत संख्या में गन्ना किसान है। सही समय पर गन्ने का भुगतान नहीं होने से किसान सबसे अधिक परेशान होते हैं। यूपी, विधानसभा चुनाव के मुहाने पर खड़ा है और चुनाव के वक्त किसानों के मुद्दों पर वादे और दावे खूब किये जाते हैं। यूपी के गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने दावा किया है कि किसानों के लिए जितना काम योगी-मोदी सरकार में हुआ है, उतना किसी ने नहीं किया। गन्ना भुगतान की समस्या को लेकर राकेश टिकैत ने सीधे यूपी के गन्ना मंत्री सुरेश राणा से ही सवाल पूछ लिया।

‘मंत्री जी को अपने गन्ने का भुगतान मिला क्या?’: ABP न्यूज चैनल पर एक कार्यक्रम में राकेश टिकैत ने गन्ना मंत्री से पूछा कि आपको अपने गन्ने का भुगतान मिल गया क्या? गन्ना मंत्री बताएं कि इनकी सरकार में कितनी शुगर फैक्ट्री बढ़ गई? कितना भुगतान हो गया या पिछले साल का कितना भुगतान बाकी है? इनके (गन्ना मंत्री) यहां जो फैक्ट्री है, उसने भी अभी तक भुगतान नहीं किया। मेरे घर का भुगतान रुका हुआ है। मंत्री जी बताएं कि उनको गन्ने का भुगतान मिल गया है क्या?

गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने दिया ये जवाब: इस पर सुरेश राणा ने कहा कि निश्चित रूप से, आप लोगों से बात करके देखिए। लोगों को भुगतान मिल रहा है। लोग सरकार को बधाई दे रहे हैं कि जो समस्या सालों से थी, उसका समाधान अब हो गया है। राकेश टिकैत जी आप खुले मन से तारीफ किया करो। हालांकि गन्ना मंत्री सुरेश राणा ने ये नहीं बताया कि उन्हें ,उनके गन्ना का भुगतान मिला या नहीं।

राकेश टिकैत ने कसा गन्ना मंत्री पर तंज: इस पर तंज कसते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि चलो ठीक है। ये गन्ना मंत्री है, ये कैसे कह सकते हैं कि मेरे गन्ने का भुगतान नहीं हुआ। राकेश टिकैत ने आगे कहा कि इन्होंने ये नहीं बताया कि इनके गन्ने का भुगतान हुआ या नहीं! जब गन्ना मंत्री का खुद का ये हाल है तो लोगों के हालत का अंदाजा आप लगा सकते हैं। सच तो यही है कि प्रदेश में हालात ठीक नहीं है।

राकेश टिकैत किसान आंदोलन का मुख्य चेहरा रहे हैं और अब एमएसपी पर गारंटी को लेकर सरकार को घेरने में लगे हुए हैं। करीब एक साल तक राकेश टिकैत तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलन का नेतृत्व कर रहे थे। राकेश टिकैत का कहना है कि उनकी नाराजगी किसी पार्टी से नहीं, किसी नेता से नहीं बल्कि सरकार से है। राकेश टिकैत ने 2022 विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी का समर्थन नहीं करने का ऐलान किया है।

“विपक्ष के लिए सबसे बड़ा चेहरा हैं योगी”: वहीं यूपी के बिजनौर में किसानों से संवाद करने पहुंचे राकेश टिकैत ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि आज किसानों को आधे दाम पर फसलों को बेंचना पड़ रहा है। वो जिसे ठीक समझेगा, उसे वोट करेगा। आप मज़बूत विपक्ष के रूप में किस चेहरे को देखते हैं? इस सवाल के जवाब में राकेश टिकैत ने कहा कि यूपी में आज योगी आदित्यनाथ से बड़ा चेहरा किसका है, लोकतंत्र में विपक्ष का मजबूत होना जरूरी है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट