scorecardresearch

आंदोलनजीवी फिर एक्टिव हो गए- राकेश टिकैत ने किया लखीमपुर खीरी में धरने का ऐलान; लोग करने लगे खिंचाई

अग्निवीर योजना पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हम इस पर कोई आंदोलन नहीं करेंगे! ये बच्चों के ऊपर निर्भर करता है कि वह जाना चाहते हैं या नहीं!

आंदोलनजीवी फिर एक्टिव हो गए- राकेश टिकैत ने किया लखीमपुर खीरी में धरने का ऐलान; लोग करने लगे खिंचाई
किसान नेता राकेश टिकैत (फोटो सोर्स- पीटीआई)

 उत्तर प्रदेश में किसान फिर से आंदोलन करने की तैयारी कर रहे हैं। 17 अगस्त की शाम से किसान लखीमपुर खीरी में एकत्रित होने वाले हैं और इसके बाद केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर धरना शुरू होगा। किसान तिकुनिया में 4 किसानों और 1 पत्रकार की हत्या के मामले में गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी को बर्खास्त करने और जेल भेजने की मांग कर रहे हैं। राकेश टिकैत ने भी आंदोलन को लेकर तैयार हो गए हैं।

राकेश टिकैत ने किया धरने का ऐलान

न्यूज 24 से बात करते हुए राकेश टिकैत ने कहा कि लखीमपुर में हमारा धरना रहेगा। 18, 19 और 20 अगस्त को हमारा धरना चलने वाला है। राकेश टिकैत ने अपनी मांगों को दोहराते हुए कहा कि अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त करो, ये हमारी मांग है। वहां पर हमारे किसान जो जेल में बंद हैं, हम उनसे मिलेंगे! वकीलों से मिलेंगे और पीड़ित परिवार वालों से मिलेंगे!

‘देश को आजाद होने में 90 साल लेगे थे, देखते हैं..’

राकेश टिकैत ने कहा कि पांच किसान वहां शहीद हुए थे और कई जेल में बंद है। संयुक्त मोर्चे का यह 75 घंटे का धरना होने वाला है। देश की आजादी में 90 साल लगे थे, हमारी मांग कब पूरी होती है ये देखते हैं। हम मांग करते रहेंगे और लखीमपुर खीरी पहुंचकर टेनी को लेकर सरकार को याद दिलाते रहेंगे!

राकेश टिकैत के आंदोलन का ऐलान करने पर सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। सुनील कुमार बेहरा ने नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा, ‘आंदोलनजीवी फिर से ऐक्टिव हो गये हैं, रोजी-रोटी के लिए वो कुछ भी कर सकते हैं।’ मनोज कुमार नाम के यूजर ने लिखा, ‘बक्कल किसकी कसती है इस बार, ये देखने लायक होगा!’

प्रकाश नाम के यूजर ने लिखा कि लखीमपुर खीरी में तुमसे झूठ बोला गया, किसान आंदोलन खत्म करने के लिए भी झूठ का सहारा लिया, जो प्रधानमंत्री सुबह लालकिले की प्राचीर से महिला सशक्तिकरण की बात करता है और शाम को ही उसके गृह राज्य से हत्यारों और बलात्कारियों को छोड़ दिया जाता है क्यों? मयंक शंकर नाम के यूजर ने लिखा कि कभी तो खेती कर लिया करो टिकैत जी!

वहीं अग्निवीर योजना पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हम इस पर कोई आंदोलन नहीं करेंगे! ये बच्चों के ऊपर निर्भर करता है कि वह जाना चाहते हैं या नहीं! लेकिन कोई भी नेता चुनाव तो दस बार लड़ लेता है लेकिन अग्निवीर नहीं बनना चाहता है। एक दो को नौकरी छोड़कर या पद छोड़कर अग्निवीर तो बन जाना चाहिए ना!  

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.