रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनते ही राजदीप सरदेसाई ने की टिप्पणी, लोगों ने कहा- शर्म करो - Rajdeep Sardesai's tweet over Ramnath Kovind as president condiadate of NDA - Jansatta
ताज़ा खबर
 

रामनाथ कोविंद के राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनते ही राजदीप सरदेसाई ने की टिप्पणी, लोगों ने कहा- शर्म करो

रामनाथ कोविंद दलित समुदाय से आते हैं। वो यूपी के कानपुर के रहने वाले हैं और बीजेपी के कद्दावर नेताओं में गिने जाते रहे हैं।

पत्रकार राजदीप सरदेसाई।

बिहार के मौजूदा राज्यपाल रामनाथ कोविंद एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार होंगे। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार 19 जून को  इसका एलान किया। कोविंद दलित समुदाय से आते हैं। अमित शाह द्वार राष्ट्रपति पद के लिए रामनाथ कोविंद के नाम का ऐलान होते ही वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने ट्वीट करते हुए इसे पॉलिटिकल टोकनिज्म बताया है। राजदीप ने अपने ट्वीट में लिखा कि जब भी किसी तरह के संदेह की स्थिति पैदा होती है तो एक दलित चेहरो को आगे कर दिया जाता है। सर्वोच्च पद के लिए एक बार फिर से राजनीतिक टोकनवाद का इस्तेमाल हुआ। राजदीप के इस ट्वीट पर यूजर्स उन्हें खरी-खोटी सुनाने लगे। एक यूजर ने राजदीप के इस ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा- राजदीप तुम्हें शर्म आनी चाहिए, जब कांग्रेस ने डॉ. कलाम को राष्ट्रपति बनाया था तब तुम्हारे मुंह से पॉलिटकल टोकनिज्म नहीं निकला। वहीं एक यूजर ने इस ट्वीट की चुटकी लेते हुए लिखा- योगी जी से मिलने से पहले क्या इन्हें भी नहा कर जाना पड़ेगा। राजदीप का ये ट्वीट पढ़ बहुत से यूजर्स ने उनकी खिंचाई कर दी।

 

 

आपको बता दें कि रामनाथ कोविंद दलित समुदाय से आते हैं। वो यूपी के कानपुर के रहने वाले हैं और बीजेपी के कद्दावर नेताओं में गिने जाते रहे हैं। वो बीजेपी में अनुसूचित जाति-जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष, महामंत्री और प्रवक्ता के रूप में भी दायित्व निभा चुके हैं। इससे पहले पार्टी मुख्यालय में बीजेपी संसदीय दल की बैठक हुई। इस बैठक में राष्ट्रपति चुनाव और उम्मीदवार पर लंबी चर्चा हुई।  इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, सुषमा स्वराज, वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी समेत संसदीय बोर्ड के अन्य सदस्य मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App