ताज़ा खबर
 

राजदीप सरदेसाई ने अमित शाह पर साधा निशाना तो लोगों ने ऐसे घेरा

राजदीप का जवाब देखकर कुछ लोगों ने उनपर 'पक्षपाती' होने का आरोप जड़ दिया।

वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई। (Photo Source: Facebook)

भारतीय जनता पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह द्वारा भाषण के दौरान महात्‍मा गांधी को ‘चतुर बनिया’ बताए जाने पर विरोधी पार्टियों ने मोर्चा खोल दिया है। छत्तीसगढ़ के रायपुर में एक जनसमूह को संबोधित करते हुए शुक्रवार को शाह ने कहा था, “कांग्रेस किसी एक विचारधारा या सिद्धांत पर आधारित पार्टी नहीं है, आजादी प्राप्त करने का एक स्पेशल पर्पज व्हीकल, आजादी प्राप्त करने का एक साधन था। इसीलिए महात्मा गांधी दूरदर्शी थे, वह एक बहुत चतुर बनिया थे। उनको मालूम था कि क्या होने वाला है, उन्होंने आजादी के बाद तुरंत कहा था कि कांग्रेस को भंग कर देना चाहिए।” इसपर कांग्रेस, जेडीयू, आरजेडी समेत कई दलों ने शाह से बयान पर माफी मांगने को कहा है। दूसरी तरफ जब वरिष्‍ठ टीवी पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने इस खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए ट्वीट किया कि ‘इस बार भाषा के जरिए महात्‍मा की हत्‍या की गई है’ तो उन्‍हें ट्रोल किया गया। महेन्‍द्र सोनाजे नाम के शख्‍स ने इस ट्वीट के जवाब में कहा कि ‘बनिया कोई खराब शब्‍द नहीं है, इसे समझें।’ इस पर राजदीप ने जवाब दिया कि ”कुछ गलत नहीं है। लेकिन इस बारे में श्‍योर नहीं हूं कि मोहनदास करमचंद गांधी के बारे में एक बड़े नेता का सार्वजनिक भाषण के दौरान ऐसी भाषा सर्वथा उचित है।”

राजदीप का जवाब देखकर कुछ लोगों ने उनपर ‘पक्षपाती’ होने का आरोप जड़ दिया। कई लोगों ने महात्‍मा गांधी के बयान का हवाला देते हुए शाह की बात को सही ठहराया। मसलन जसवंत ने कहा, ”महात्‍मा गांधी ने खुद भी कहा था कि मैं बनिया हूं। राजदीप इतना भी मत खींचो।” निखिल ने बीच में पीएम मोदी और सोनिया गांधी को लाते हुए सवाल किया, ”तो एक चुने हुए मुख्‍यमंत्री के लिए ‘मौत का सौदागर’ टर्म का प्रयोग करना सही, उस समय वे अपने अधिकारों का प्रयोग कर रहे थे?”

देखें लोगों के ट्वीट्स: