scorecardresearch

राजस्थान के सियासी संकट के बीच राहुल गांधी ने फुटबॉल पर आजमाए हाथ, आए ऐसे कमेंट्स

राजस्थान में पैदा हुए संकट के बीच राहुल गांधी फुटबॉल खेलते नजरआये, सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है!

राजस्थान के सियासी संकट के बीच राहुल गांधी ने फुटबॉल पर आजमाए हाथ, आए ऐसे कमेंट्स
भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी (फोटो सोर्स- स्क्रीनग्रैब, कांग्रेस/ट्विटर)

एक तरफ राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं तो दूसरी तरफ कांग्रेस में ही घमासान मच गया है। राहुल गांधी देश को एकजुट करने की बात कर रहे हैं लेकिन राजस्थान कांग्रेस में जो स्थिति पैदा हुई है उससे पार्टी की किरकिरी हो रही है। राहुल गांधी इस वक्त केरल में है और भारत जोड़ो यात्रा में कार्यकर्ताओं के साथ पदयात्रा कर रहे हैं। कांग्रेस की तरफ से फुटबॉल खेलते हुए राहुल गांधी का वीडियो शेयर किया गया है।

कांग्रेस की तरफ से राहुल गांधी का जो वीडियो शेयर किया गया है उस वीडियो में राहुल गांधी बच्चों के साथ फुटबॉल खेलते नजर आ रहे हैं। वीडियो शेयर कर कांग्रेस की तरफ से लिखा गया है कि ये भविष्य ही तो संवारना है और इनके लिए हर मुश्किल से टकरा जाना है। सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है और लोग राहुल गांधी के इस वीडियो पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

@JUSTHELPHYD यूजर ने लिखा कि पहले कांग्रेस जोड़ो राजस्थान में, फिर बाद में भारत को जोड़ने के बारे में सोचना। आप क्या जोड़ोगे देश को, जब आपके पार्टी के नेता आपकी ही नहीं सुनते तो देश आपकी क्यों सुनेगा?@Deshbha02216703 यूजर ने लिखा कि पहले राजस्थान तो देख लो भाई, भारत बाद में जोड़ना जो टूटा ही नहीं है। @Manibab78068674 यूजर ने लिखा कि पहले कांग्रेस को सवारिये ताकि आपका भविष्य बना रहे, इनका भविष्य तो मोदी जी संवार ही रहे हैं इसके लिए आप को चिंता करने की जरुरत नहीं है।

@0691Amit यूजर ने लिखा कि साथ में आपको ये भी बताते जाना चाहिए कि आप के समय कितने मेडल आते थे और अब कितने आते हैं? @Sandeep_nkt यूजर ने लिखा कि गहलोत ने राजस्थान से कांग्रेस तोड़ो यात्रा शुरू कर दी है। एक यूजर ने तो यह तक लिखा दिया है कि कांग्रेस का अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा किसी और को नहीं होना चाहिए, यदि बहुत बड़ी मजबूरी हो तो भी प्रियंका गांधी के अलावा कोई और नहीं।

बता दें कि अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने वाले थे। ऐसे में उनकी जगह किसी और को मुख्यमंत्री बनाये जाने के लिए राजस्थान कांग्रेस की तरफ से विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी। दिल्ली से अजय माकन और वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड्गे को राजस्थान भेजा गया था लेकिन गहलोत गुट के विधायक बैठक में पहुंचे ही नहीं। इतना ही नहीं उन्होंने पर्यवेक्षक के तौर पर राजस्थान पहुंचे दोनों वरिष्ठ नेताओं से मिलने से भी इंकार कर दिया, दोनों नेता दिल्ली वापस आ गए हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 05:33:24 pm
अपडेट