राहुल गांधी ने कोरोना मृतकों के लिए मांगा हर्जाना तो फिल्ममेकर बोले – 1984 में मारे गए बेगुनाह सिख भाइयों को कितना दिया था मुआवजा

देश में कोरोना वायरस के नए केसों में कमी बनी हुई है। पिछले 24 घंटे में कुल 9,283 नए केस सामने आए हैं। इसको लेकर एम्स के निदेशक रण

Rahul gandhi Photo, Rahul PTI photo
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी (फोटो सोर्स – पीटीआई)

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने एक वीडियो जारी करते हुए केंद्र सरकार से कोरोना मृतकों के सही आंकड़े बताने की मांग की। उन्होंने ट्वीट के जरिये लिखा कि कोविड के कारण अपने परिवारजनों को खो चुके परिवारों को चार लाख का हर्जाना दिया जाए। उनके इसी ट्वीट पर फिल्म मेकर अशोक पंडित ने कई सवाल पूछे हैं।

फिल्मेकर ने लिखा – डियर राहुल गांधी 1984 में मारे गए बेगुनाह सिख भाइयों को अब तक आपने कितना हर्जाना दिया? 1990 में 4 लाख कश्मीरी हिंदुओं के नरसंहार के बाद आपने उनको कितना हर्जाना दिया? लिस्ट बहुत लंबी है, 70 सालों की लूटी हुई दौलत आप भी कभी बंटोगे की विदेश यात्रा में ही खर्च करते रहोगे? राहुल गांधी के ट्वीट पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

लकी मल्होत्रा (@indianguru) टि्वटर हैंडल से लिखा गया कि देश में ऐतिहासिक भूल करने वाले। देश का बंटवारा, इमरजेंसी, सिख दंगे, भोपाल गैस त्रासदी, 26/11 मुंबई हमला, 1990 नरसंहार व विस्थापित कश्मीरी हिंदुओं को कितना हर्जाना कांग्रेस सरकार ने दिया है? प्रदीप वत्स
(@PradeepVatsa) नाम के ट्विटर अकाउंट से लिखा गया कि यह पैसा तो राहुल गांधी अपनी जेब से दें, क्योंकि इन्होंने और उनके परिवार ने करीब 1000 करोड़ रुपए लूटे हैं।

राहुल गांधी की पीसी से सवाल करने वाले पत्रकार को बाहर निकाला – अमित मालवीय का आरोप, कांग्रेस का पलटवार- नशा मुक्ति केंद्र में संपर्क करें बीजेपी नेता

निखिल (@nikhilpaatkar) नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं कि सबसे पहले आप उन राज्यों के सही आंकड़े जारी करें जहां पर आपकी सरकार है। अंकुर वाशी (@ankurvashi1983) नाम के ट्विटर अकाउंट से कमेंट आया कि लंदन में बैठकर ऐसे प्रोपेगेंडा फैलाने की तैयारी चल रही है। किसान आंदोलन से तो अब जॉब लेस हो गए हो।

राहुल गांधी जो कहते हैं वही होता है – बोलीं कांग्रेस प्रवक्ता, संबित पात्रा ने कसा तंज – उनको यहां ज्योतिषी के सेक्शन में बैठाइए

संजुक्ता बसु (@sanjukta) नाम की ट्विटर यूजर लिखती है कि इस वीडियो में देखा जा सकता है कि गुजरात के बहुत सारे लोग रोते हुए कह रहे हैं कि सरकार ने उन्हें कोई भी सुविधा नहीं दी है। सरकार नरेंद्र मोदी के एरोप्लेन पर 8 हजार करोड़ खर्च कर सकती है लेकिन कोरोना मृतक के परिवारों को 50 हजार भी नही दे पा रही है। गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस के नए केसों में कमी बनी हुई है। पिछले 24 घंटे में कुल 9,283 नए केस सामने आए हैं। इसको लेकर एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि शायद अब देश में करोड़ों की तीसरी लहर न आए।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
अमित शाह के पैर छूने वाले Video पर मंत्री वीके सिंह की सफाई- मीडिया की बदमाशीVK Singh, India EU deal, India EU FTA Deal, FTA deal, European Union
अपडेट