रामचरित मानस की 2 चौपाई सुना दीजिए नहीं तो मानूंगी आप चंदा चोर हैं- बोलीं रागिनी नायक, संविधान की बात करने लगे BJP के गौरव भाटिया

कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने यह वीडियो अपने आधिकारिक टि्वटर अकाउंट से साझा करते हुए लिखा कि, “आज भाजपा प्रवक्ता को खुली चुनौती दी…‘रामचरितमानस’ की दो चौपाई सुना दीजिए वरना मान लीजिए कि आप ‘चंदा चोर’ और ‘ढोंगी’ रामभक्त हैं। सिलेबस के बाहर का सवाल आते ही, देखिए कैसे बौखला गए। चौपाई न सुना पाए क्योंकि ढोंगी हैं भाजपायी।

Ram Mandir, Uttar Pradesh
भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया व कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ( फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

न्यूज़ 18 इंडिया के चैनल पर हो रही एक डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया को ललकारते हुए कहा कि अगर आप असली राम भक्त हैं तो मुझे रामचरितमानस की दो चौपाई पढ़ कर सुना दीजिए। अगर आप नहीं सुना सकते हैं तो मान लीजिए कि आप चंदा चोर हैं। आपकी चंदा चोरी पकड़ी जा रही है । उनकी इस बात का जवाब ना देते हुए भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि, “चौपाई चौपाई करती है यह अलग जाकर करिएगा। संविधान पढ़िए पहले। संविधान का अनुच्छेद 19 क्या कहता है पता नहीं है”।

डिबेट का हिस्सा सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। यह वीडियो शेयर करते हुए लोग अपनी अपनी बातें कह रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने यह वीडियो अपने आधिकारिक टि्वटर अकाउंट से साझा करते हुए लिखा कि, “आज भाजपा प्रवक्ता को खुली चुनौती दी…‘रामचरितमानस’ की दो चौपाई सुना दीजिए वरना मान लीजिए कि आप ‘चंदा चोर’ और ‘ढोंगी’ रामभक्त हैं। सिलेबस के बाहर का सवाल आते ही, देखिए कैसे बौखला गए। चौपाई न सुना पाए क्योंकि ढोंगी हैं भाजपायी।

रागिनी नायक के इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए एक यूजर कमालुद्दीन अंसारी लिखते हैं कि, “सत्य बात, पूरे भाजपाइयो में कूट कूट कर ढोंग भरा हुआ है। कोई मिलियन में 0 नही बता सकता। कोई चौपाई नही सुना सकता केवल झूठ का ढोल जरूर बजा सकता है”।

एक यूजर ने दोहे के जरिए लिखा कि, “रामचन्द्र कह गए सिया से ऐसा कलयुग आएगा पेट चलेगा राम नाम से , वोट मांगेंगे राम नाम पर, लेकिन राम को ही भूल जाएगा”। अश्वनी भाटिया नाम के यूजर इसी ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखते हैं कि, ” धर्म की आड़ में, षड्यंत्र चलाने वाले,क्या जानते नहीं धर्म में आतंकवाद कैसे छुपते आया, भेष बदल कर,शरीर मर जाता है, लेकिन स्वार्थ अमर होता है।

शो के एंकर अमीश देवगन की पत्रकारिता पर सवाल उठाते हुए तनवीर शेख नाम के यूजर लिखते हैं कि, “गौरव भाटिया और अमीश देवगन एक साथ दो-दो प्रवक्ता है। बीजेपी के यह तो पत्रकार कम बीजेपी के प्रवक्ता ज्यादा है और सवाल पूछना हिंदुस्तान में कभी भी। जुर्म नहीं है, अधिकार है हमारा पूछेंगे”।रिटायर्ड विंग कमांडर अनुमा आचार्य ने भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया का मजा लेते हुए लिखा कि, “अरे रागिनी जी, ये तो सच में तो…तले हैं!! मैं तो पहले यूँ ही समझ रही थी, लेकिन आज दिखा कि ये हैं भी वही. ये भी और इनके आका भी – इन दोनों को ‘कच्चा पपीता, पक्का पपीता’ कहने की प्रैक्टिस करना पड़ेगी”!

अपडेट
X