scorecardresearch

यूपी में राशन कार्ड को लेकर मचे बवाल पर प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट तो लोगों ने कहा- झूठ ना फैलाइए मैडम

यूपी में राशन कार्ड को लेकर उड़ी अफवाह को लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी सरकार को घेरने की कोशिश की तो लोगों ने कहा कि इस तरह के अफवाह ना फैलाएं।

यूपी में राशन कार्ड को लेकर मचे बवाल पर प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट तो लोगों ने कहा- झूठ ना फैलाइए मैडम
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (सोर्स- @priyankagandhi)

उत्तर प्रदेश में राशन कार्ड को लेकर नया विवाद खड़ा हो गया। पहले ऐसी खबरें सामने आई कि सरकार अब नए मानकों के आधार पर राशन कार्ड देगी और जो इन मानकों में शामिल नहीं हैं वो जल्द से जल्द अपना राशन कार्ड जमा करवा दें, अन्यथा उन पर कार्रवाई होगी। इस खबर के प्रसारित होने के बाद विपक्ष सरकार पर हमलावर हो गया। हालांकि सरकार की तरफ से इस खबर को फर्जी बताते हुए कहा गया कि ऐसा कोई नियम नहीं बनाया गया है, जो नियम पहले से चल रहे थे उसी के तहत ही राशन कार्ड बनेंगे और वैध होंगे!

राशन कार्ड के मानक की फर्जी खबर पर प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी ट्वीट कर दिया। प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा कि “जमीन होना, पक्का मकान, मुर्गी पालन- गौ पालन, शासन से पेंशन आदि” जैसे नियम लगाकर राशन कार्ड सरेंडर करवाना व वसूली की धमकी देना शर्मनाक है। महंगाई आसमान पर है व कमाई पाताल में, ऐसे में जरूरतमंदों पर ये गहरा आघात है, चुनावभर राशन वोट मशीन था और अब इसे सरकार वसूली यंत्र बना रही है।’

लोगों की प्रतिक्रियाएं: एक यूजर ने लिखा कि ‘प्रियंका दीदी, राहुल भैया की तरह आप भी फर्जी खबर फैलाने लग गई!’ अभय मिश्रा नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आम आदमी को जेल हो जाती है फेक न्यूज फैलाने पर और ये खास लोग हैं कुछ भी फैला सकते हैं।’ आदर्श तिवारी ने लिखा कि ‘कांग्रेस पार्टी का शीर्ष नेतृत्व फेक न्यूज फैला रहा है। इनका फैक्ट चेक करना चाहिए।’ विक्की नाम के यूजर ने लिखा, ‘प्रियंका जी, अपने सलाहकार को बदलिए। नहीं तो फेक न्यूज के चक्कर में आप लपेटे में आ जाएंगी।’

आनंद दूबे नाम के यूजर ने लिखा कि ‘इसी तरह के झूठ ने आपको और कांग्रेस को रसातल में पहुंचाया है, प्रियंका गांधी जी राशन कार्ड सरेंडर व निरस्तीकरण के सम्बन्ध में कोई नया आदेश नहीं किया गया है। पात्रता/अपात्रता के सम्बन्ध में 07 अक्टूबर, 2014 के शासनादेश के मानक निर्धारित किए गए थे, जिसमें कोई परिवर्तन नहीं हुआ है।’ आलोक अवस्थी ने लिखा कि ‘मुझे आश्चर्य नहीं है कि क्यों उत्तरप्रदेश में कांग्रेस लगभग 2% वोट शेयर पर पहुंच गयी? झूठ बोलने वाले नेता पर जनता क्यों विश्वास करे, फिर से एक झूठ परोसा गया। राशन कार्ड निरस्त होने का कोई नया नियम नहीं बना है जो नियम 2014 में था, वही है।’

प्रियंका गांधी के ट्वीट को सही मानते हुए केशव चंद यादव ने लिखा कि ‘जमीन नहीं होगी तो आखिर वह परिवार रहेगा कहां? राशन के बाद भी जीवन की हजारों जरुरते हैं जहांपनाह, क्या पाकिस्तान वालों को राशन देंगे महाराज जी।’ अश्विनी कुमार राय ने लिखा कि ‘बिलकुल सही कहा आपने। यही साहेब की भाजपा की चाल चरित्र और चेहरा है। ये चुनाव जीवी हैं। चुनाव खत्म वसूली शुरू। राहत के लिए अगले चुनाव का इंतजार करें।’

बता दें कि, पहले एक अखबार की कटिंग सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई, जिसमें यूपी में राशन कार्ड धारकों के लिए नए पैमाने तय किए गये थे। सोशल मीडिया पर वायरल हुई इस अखबार की कटिंग को देखकर अधिकतर लोग चकमा खा गए और इसे सच मान बैठे। प्रियंका गांधी भी इसका शिकार हो गई। हालांकि बाद में सरकार ने इस पर सफाई दी है और वायरल हो रही अखबार की कटिंग को फर्जी बताया।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 24-05-2022 at 11:28:00 am
अपडेट