scorecardresearch

बिलकिस बानो केस पर प्रियंका गांधी ने पूछा – नरेंद्र मोदी जी स्त्री का सम्मान केवल भाषणों के लिए? मिले ऐसे जवाब

इस मसले पर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा व AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने गुजरात सरकार पर कई तरह के सवाल उठाए हैं।

बिलकिस बानो केस पर प्रियंका गांधी ने पूछा – नरेंद्र मोदी जी स्त्री का सम्मान केवल भाषणों के लिए? मिले ऐसे जवाब
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (फोटो- फाइल)

बिलकिस बानो रेप मामले में 11 दोषियों को रिहा कर दिया गया। इसको लेकर विपक्ष भाजपा पर तीखा प्रहार कर रहा है। कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए सवाल किया है। प्रियंका ने पीएम से पूछा कि क्या महिलाओं का सम्मान केवल भाषणों तक सीमित है। प्रियंका द्वारा पूछे गए सवाल पर लोग जवाब देते नजर आ रहे हैं?

प्रियंका ने किया ऐसा ट्वीट

प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘ एक गर्भवती महिला के साथ गैंगरेप और उसकी बच्ची की हत्या के अपराध में सभी अदालतों से सजा पा चुके अपराधियों की भाजपा सरकार द्वारा रिहाई, कैमरे के सामने स्वागत। क्या अन्याय व संवेदनहीनता की पराकाष्ठा नहीं है? नरेंद्र मोदी जी तरीका सम्मान केवल भाषणों के लिए है। महिलाएं पूछ रही हैं?’

प्रियंका गांधी के सवाल पर लोगों के जवाब

अनिरुद्ध सिंह नाम के ट्विटर यूजर कमेंट करते हैं कि बेहतर होता भाजपा सरकार 15 अगस्त को ही इन बलात्कारियों को रिहा कर देती ताकि देशवासी को नारी सम्मान का एक नया गुजरात मॉडल अच्छे से दिख जाता। मुनीर नाम के एक एक यूजर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए लिखते हैं – 5 महीने की गर्भवती महिला से बलात्कार और उनकी 3 साल की बच्ची की हत्या करने वालों को आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान रिहा किया गया। नारी शक्ति की झूठी बातें करने वाले देश की महिलाओं को क्या संदेश दे रहे हैं? वेद प्रकाश नाम के एक यूजर द्वारा लिखा गया, ‘ इनसे महिला सम्मान की आशा रखना ही बेमानी है।’

कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने बोला हमला

इस मसले पर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि दोषियों की रिहाई से जुड़े हुए कुछ और तथ्य सामने आए हैं। गुजरात सरकार का दावा है कि उसने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार अभियुक्तों को रिहा किया जबकि सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को 3 महीने के भीतर रिहाई पर विचार करने को कहा था इसलिए बलात्कार एवं हत्या के अभियुक्तों की रिहा करने का फैसला पूर्ण रूप से कार्यपालिका का है।

पढ़िए पूरा मामला

गुजरात में 2002 में हुए गोधरा कांड के दौरान बिलकिस बानो के साथ गैंग रेप किया गया था। इस मामले में सजा पा चुके 11 कैदियों को गुजरात सरकार ने अपनी छूट नीति के तहत 15 साल की सजा काटने के बाद रिहा कर दिया। इन दोषियों पर बिलकिस बानो के साथ गैंगरेप करने और उनके परिवार के सात सदस्यों की हत्या करने का आरोप लगा था और 2008 में इन सभी को कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई थी।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.