ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी की मां हीराबेन की पुरानी फोटो फर्जी समझ केन्द्रीय मंत्री को ट्रोल करने लगे यूजर्स

एक यूजर बोलीं, "काका BJP IT Cell के Paid Trolls ढंग से काम नहीं कर रहे हैं, पिछले चार सालों में Photoshop का उपयोग करना भूल गए हैं।" अनऑफिशियल स्वामी ने ट्वीट किया, "ये फोटोशॉप नहीं है, ये 2014 की एक तस्वीर है।"

न्यूज रिपोर्ट में दावा किया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां की ये तस्वीर 2014 लोकसभा चुनाव के समय की है।

केन्द्रीय मंत्री विजय सांपला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन की एक पुरानी तस्वीर को शेयर कर ट्रोल हो गये। इस तस्वीर में पीएम मोदी की मां हीराबेन ऑटो चढ़ने की कोशिश कर रही हैं। 3 मई को इस तस्वीर को पोस्टकर केन्द्रीय मंत्री विजय सांपला ने लिखा, “हमारे प्यारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां अभी भी ऑटो से चलती हैं, जबकि राहुल गांधी की मां दुनिया चौथी सबसे धनी नेता हैं।” सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री विजय सांपला के इस ट्वीट पर धुआंधार प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। कई यूजर्स इस तस्वीर को फर्जी बताकर केन्द्रीय मंत्री को ट्रोल कर रहे हैं। साथ ही कई यूजर्स ने पीएम मोदी पर भी टिप्पणी की है।

हालांकि न्यूज 18 की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये तस्वीर 2014 लोकसभा चुनाव की है। इस रिपोर्ट के मुताबिक नरेंद्र मोदी की मां गांधीनगर में वोट डालने के लिए एक ऑटो रिक्शा से वोट आई हैं। तस्वीर में एक पीएम मोदी की मां हीराबेन की दाहिनी बांह को एक शख्स पकड़े हुए दिख रहा है। लेकिन इस जगह में एक हाथ ही दिख रहा है। हालांकि तस्वीर में एक शख्स नरेंद्र मोदी की मां के पीछे नजर आ रहा है। इस शख्स ने मोदी की मां को पकड़ रखा है।

इस तस्वीर पर प्रतिक्रिया देते हुए अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने लिखा, “एक हाथ इस महिला को पकड़े हुआ है, लेकिन ये हाथ किसी अदृश्य व्यक्ति से जुड़ा हुआ है, मैं ऐसा कह रही थी।” डिजाइनर फराह खान ने लिखा, “हमारे प्यारे प्रधानमंत्री पूरी दुनिया में उड़ रहे हैं, जबकि उनकी गरीब मां को एक रिक्शा में गलत तरीके से फोटोशॉप किया गया है, आश्चर्य लगता है कि मैं गरीब हूं और धार्मिक कार्ड हर चुनाव में कैसे खेला जता है, इससे भी ज्यादा आश्चर्य की बात यह है कि कैसे लोग बार-बार इस जाल में फंस जाते हैं।” एक यूजर बोलीं, “काका BJP IT Cell के Paid Trolls ढंग से काम नहीं कर रहे हैं, पिछले चार सालों में Photoshop का उपयोग करना भूल गए हैं।” अनऑफिशियल स्वामी ने ट्वीट किया, “ये फोटोशॉप नहीं है, ये 2014 की एक तस्वीर है, ये तब लिया गया था जब वह 2014 में वोट डालने जा रही थी।” दीप्ति तिवारी ने लिखा, “बाकी नेता अपनी मां की तस्वीर का इस्तेमाल भावनात्मक रूप से वोट पाने के लिए नहीं करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App