ताज़ा खबर
 

प्रशांत भूषण ने उठाया वेंकैया नायडू के “जमीन घोटाले” का मामला तो लोगों ने कहा- अपनी नोएडा और हिमाचल वाली जमीन का तो हिसाब दो

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट के साथ 'गल्फ न्यूज' की एक खबर का स्क्रीन शॉट भी शेयर किया है।
सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण।

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर सीनियर बीजेपी लीडर और उप राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार वेंकैया नायडू पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भूमि घोटाले का खुलासा होने के बाद वेंकैया नायडू को पांच एकड़ भूमि आवंटित करने के लिए मजूबर होना पड़ा था। जिसके बाद वो ‘भूमिहीन बेसहारा’ हो गए। वरिष्ठ वकील ने ट्वीट के साथ ‘गल्फ न्यूज’ की एक खबर का स्क्रीन शॉट भी शेयर किया है। शेयर की गई खबर 24 अगस्त, 2002 की है, जब वेंकैया नायडू भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। खबर, ‘वेंकैया नायडू ने राज्य को भूमि वापस लौटाई’ शीर्षक से शेयर की गई है। हालंकि ट्वीट के बाद से ही प्रशांत भूषण खुद यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं। कई यूजर्स ने उनसे नोएडा और हिमाचल वाली जमीन का हिसाब देने की बात कही। दिपक शेट्टी एक खबर का स्क्रीन शॉट ट्वीट कर लिखते हैं, ‘आपके पिता चोर हैं’ ट्रेवलर लिखते हैं, ‘फिर गंद फैलाने लगे। नोएडा और हिमाचल प्रदेश वाली जमीन का हिसाब अभी तक नहीं दिए हो।’ प्रशांत धर लिखते हैं, ‘हम अभी आपकी ऐसी किसी सार्थक पहल का इंतजार कर रहे हैं जिसमें आपने देश के लिए कुछ किया हो। अगर किया है तो एक बता दीजिए।’

एक यूजर लिखते हैं, ‘वाह! क्या आप हिमाचल से जुड़ा जमीन विवाद बता सकते हैं।’ राजा लिखते हैं, ‘वाह! घोटाले वाले नायडू अब देश के उपराष्ट्रपति बनेंगे।’ जय हिंद लिखते हैं, ‘पहले अपने आप को संभालिए।’ वहीं जेडी नाम से यूजर प्रशांत भूषण को नक्सल कहकर संबोधित करते हैं। वहीं नवीन मल्होत्रा लिखते हैं, ‘सर वेंकैया नायडू तो अब उप राष्ट्रपति बनकर ही रहेंगे। तुम कुछ भी कर लो। वैसे कहां-कहां से खबरें निकाल रहे हो भाई। कुछ तो अपनी खबरों का भी खुलासा करो।’

Wow!As BJP Pres, Naidu was forced to surrender 5 acres land allotted to him as a ‘Landless destitute’ when he was MLA,after scam was exposed pic.twitter.com/QJ49GP9bzq

— Prashant Bhushan (@pbhushan1) July 19, 2017

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.