ताज़ा खबर
 

राम रहीम की गाड़ी से मिले लड़कियों के सैनिटरी पैड्स, इस बलात्कारी बाबा ने रची थी बड़ी साजिश

पुलिस के मुताबिक, पकड़ी गई गाड़ियों से जो चीजें मिली उससे एक बड़ी साजिश का पता चलता है।

25 अगस्त को पंचकूला में विशेष सीबीआई कोर्ट द्वारा गुरमीत बाबा राम रहीम को दोषी करार दिए जाने के बाद भड़की हुई हिंसा में मरने वालों की संख्या 38 पहुंच गई है। वहीं, उसी दिन पुलिस ने बाबा की कई संदिग्ध गाड़ियां जब्त की थी। ये गाड़ियां फिलहाल पंचकूला के मनसा देवी पुलिस स्टेशन में खड़ी हैं। जब इन गाड़ियों की तलाशी ली गई तो पाया कि यह लग्जरी गाड़ियां आलीशान ढंग से सजा रखी थी और इनमें से सेनेटरी नैपकिन भी पुलिस को मिले हैं। गाड़ियों में से कुछ हथियार भी मिले हैं। इन गाड़ियों में से कुछ लिफाफे मिले हैं जो साल 2017 के हथियारों के लिए यूज किए जाते हैं। लेकिन इसमें से हथियार गायब हैं। लग्जरी गाड़ियों में मिले सूटकेसों में कई कपड़े भी मिले हैं। इससे साफ होता है कि गुरमीत को भगाकर ले जाने के लिए प्लानिंग की गई थी। पुलिस के मुताबिक, हंगामे के दौरान पकड़ी गई इन गाड़ियों से जो चीजें मिली उससे पता चलता है कि बाबा भगाने की सोची समझी रणनीति बनाई गई थी।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J3 Pro 16GB Gold
    ₹ 7490 MRP ₹ 8800 -15%
    ₹0 Cashback
  • Vivo V7+ 64 GB (Gold)
    ₹ 16990 MRP ₹ 22990 -26%
    ₹850 Cashback
राम रहीम की गाड़ी के अंदर का नज़ारा।

पुलिस थाने में मौजूद फायर ब्रिगेड की गाड़ी में एक 5/4 का बॉक्स मिला है। यह बॉक्स आमतौर पर किसी भी फायर टेंडर के अंदर नहीं होता है। इस बॉक्स में जांच करने के बाद सामने आया कि इसमें पेट्रोल डाला गया था। ये पेट्रोल वहीं से पानी में सप्लाई करना था और आग लगाई जानी थी।

 

दुष्कर्म मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह को सोमवार को रोहतक के पास सुनारिया जेल में विशेष अदालत द्वारा सजा सुनाई जाएगी। रोहतक के पास सुनारिया की जेल में बनाई गई विशेष अदालत सजा का ऐलान करेगी। इसी जेल में डेरा प्रमुख को रखा गया है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिंह ने शुक्रवार को डेरा प्रमुख को दुष्कर्म का दोषी ठहराया था। डेरा प्रमुख को न्यूनतम सात साल से आजीवन कारावास तक की सजा हो सकती है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App