PM Narendra modi's old tweet on nirbhaya gone viral again after rohtak gang rape case - रोहतक गैंगरेप के बाद शेयर क‍िया जा रहा नरेंद्र मोदी का पुराना ट्वीट- निर्भया को मत भूलना, बेरोजगार युवाओं को मत भूलना, आत्महत्या कर रहे किसानों को मत भूलना... - Jansatta
ताज़ा खबर
 

रोहतक गैंगरेप के बाद शेयर क‍िया जा रहा नरेंद्र मोदी का पुराना ट्वीट- निर्भया को मत भूलना, बेरोजगार युवाओं को मत भूलना, आत्महत्या कर रहे किसानों को मत भूलना…

रोहतक में हुए इस घिनौने कांड का हवाला देते हुए लोग पीएम के ट्वीट को रिट्वीट कर रहे हैं और लिख रहे हैं कि सर अपने ट्वीट में निर्भया की जगह रोहतक कर दीजिए बाकी स्थिति आज भी वही है।

प्रदानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फोटो- पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक ट्वीट जो उन्होंने तीन साल पहले किया था वो एक बार फिर से ट्विटर पर रिट्वीट किया जा रहा है। इस ट्वीट के साथ यूजर्स लिख रहे हैं कि मोदी जी हमें आपका ये ट्वीट याद है..क्या आपको याद है? दरअसल प्रदानमंत्री मोदी ने 2014 में लोकसभा चुनावों से पहले एक ट्वीट करते हुए यूपीए सरकार पर करारा हमला किया था। इस ट्वीट में नरेंद्र मोदी ने लिखा था कि निर्भया को मत भूलना, बेरोजगार युवाओं को मत भूलना, आत्महत्या कर रहे किसानों को मत भूलना, ये भी मत भूलना कि कैसे हमारे सैनिकों के सिर काट दिये जा रहे हैं। प्रधानमंत्री के इसी ट्वीट को यूजर्स रिट्वीट कर रहे हैं। पीएम के इस ट्वीट में निर्भया की बात कही गई है। अभी हाल ही में निर्भया जैसा ही घिनौना कांड हरियाणा के रोहतक में भी पेश आया जहां 23 साल की दलित युवती के साथ बलात्कार करके उसके शव को क्षतविक्षत हालत में मैदान में फेंक दिया गया था। रोहतक में हुए इस घिनौने कांड का हवाला देते हुए लोग पीएम के ट्वीट को रिट्वीट कर रहे हैं और लिख रहे हैं कि सर अपने ट्वीट में निर्भया की जगह रोहतक कर दीजिए बाकी स्थिति आज भी वही है।

 

प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी द्वारा किये गए इस ट्वीट को रिट्वीट करते हुए रेडियो मिर्ची के आरजे आकाश बैनर्जी ने लिखा – हम रोहतक को नहीं भूलेंगे, हम रोजगार वाले जुमले को नहीं भूलेंगे, हर साल 12 हजार किसानों की आत्महत्या को नहीं भूलेंगे, हम नहीं भूलेंगे कि कैसे आज भी हमारे सैनिकों के सिर काटे जा रहे हैं।

कुछ यूजर्स ने लिखा कि इन्हीं सब चीजों से परेशान होकर हमने आपको वोट किया था, लेकिन आज भी स्थिति वही है। वहीं कुछ यूजर्स ने लिखा कि आपका ये ट्वीट सदाबहार है।आज के हालात देखकर लगता है कि आपकी बातें सिर्फ चुनाव जीतने के लिए थी।

निर्भया गैंगरेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने चारों दोषियों की फांसी की सजा को बरकरार रखा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App