ताज़ा खबर
 

पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया- क्यों नहीं पहनता मुसलमानों की टोपी, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है वीडियो

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि आज कल भारत की राजनीति में एक नई तरह की विकृति आ चुकी है। आज की राजनीति में चलन बन गया है कि अपीज़मेंट के लिए कुछ भी करो।

फिलिस्तीन के राष्ट्रपति से बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। सोर्स- पीटीआई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक बयान इन दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पीएम मोदी का ये बयान मुसलमानों की टोपी पहनने पर है। प्रधानमंत्री के बयान का ये वीडियो इंडिया टीवी के प्रोग्राम आप की अदालत का है। इस प्रोग्राम में शो के एंकर रजत शर्मा को पीएम मोदी बता रहे हैं कि साल 2011 में उन्होंने एक जनसभा में किसी इमाम के हाथों से मुसलमानों वाली टोपी क्यों नहीं पहनी थी। आपको बता दें कि ये वीडियो 2014 के लोकसभा चुनावों से पहले का है। पीएम मोदी के बयान का ये वीडियो मोदी फॉलोवर्स नाम के फेसबुक पेज से शेयर किया गया है। शेयर करने के 17 घंटों में ही इस वीडियो को लगभग 1 लाख लोग देख चुके हैं। वहीं लगभग 1000 लोगों ने इस वीडियो को शेयर भी किया है।

दरअसल इस प्रोग्राम में शो के एंकर रजत शर्मा ने नरेंद्र मोदी से कहा कि उमर अबदुल्ला ने आप पर आरोप लगाया है कि आप पंजाब जाते हैं तो पगड़ी पहन लेते हैं..असम जाते हैं तो वहां की वेशभूषा अपना लेते हैं लेकिन जब एक बार आपको इमाम ने मुसलमानों वाली टोपी पहनानी चाही तो आपने इनकार कर दिया। रजत शर्मा के इस सवाल पर मोदी ने कहा कि मैंने कभी महात्मा गांधी या पंडित नेहरू को इस तरह की टोपी पहने नहीं देखा है।

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि आज कल भारत की राजनीति में एक नई तरह की विकृति आ चुकी है। आज की राजनीति में चलन बन गया है कि अपीज़मेंट के लिए कुछ भी करो। मेरा काम सभी संप्रदायों का सम्मान करना लेकिन मेरी जो परंपरा है उसे मुझे जीना है। इसीलिए मैं समझता हूं कि टोपी पहन कर फोटो निकालकर लोगों की आंखों में धूल झोंकने का पाप नहीं कर सकता।

पीएम मोदी के इस जवाब के बाद रजत शर्मा ने कहा कि नीतिश कुमार ने एक बार कहा था कि राजनीतिक जीवन में कभी तिलक लगाना पड़ता है तो कभी टोपी भी पहननी पड़ती है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए पीएम ने साफ शब्दों में कहा कि उनकी सोच उन्हें मुबारक और मेरी सोच मुझे मुबारक।

मोदी सरकार के 3 साल: 61 प्रतिशत लोगों का कहना- 'सरकार उम्मीदों पर खरी उतरी'

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App