ताज़ा खबर
 

नरेंद्र मोदी इंटरव्‍यू: अब ट्रोल हो रहे पीएम, मिली चुनौती- एनडीटीवी पर जाकर दिखाएं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार की रात साल 2018 का पहला इंटरव्यू हिंदी चैनल जी न्यूज़ को दिया। एंकर सुधीर चौधरी को दिए इस इंटरव्यू में पीएम मोदी ने राजनीति, अर्थव्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय मसलों से लेकर कूटनीति और रोजगार तक के मुद्दों पर खुलकर बातें की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (स्क्रीनशॉट/यूट्यूब)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार की रात साल 2018 का पहला इंटरव्यू हिंदी चैनल जी न्यूज़ को दिया। एंकर सुधीर चौधरी को दिए इस इंटरव्यू में पीएम मोदी ने राजनीति, अर्थव्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय मसलों से लेकर कूटनीति और रोजगार तक के मुद्दों पर खुलकर बातें की। सोशल मीडिया पर उनकी यह खास बातचीत का वीडियो छाया हुआ है और ट्विटर यूजर्स का एक धड़ा इस वक्त उन्हें काफी ट्रोल भी कर रहा है। यूजर्स पीएम मोदी को ट्रोल करते हुए एनडीटीवी पर इंटरव्यू देने की चुनौती दे रहे हैं। कुछ लोग कह रहे हैं कि जी न्यूज़ में तो इंटरव्यू दे दिया अब जरा एनडीटीवी में रवीश कुमार को भी समय दे दीजिए। वहीं एक यूजर ने ट्वीट किया कि देश यह जानना चाह रहा है कि पीएम मोदी एनडीटीवी को कब इंटरव्यू दे रहे हैं। @nitindjone नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा, ‘पीएम मोदी हर चैनल को इंटरव्यू देते रहते हैं, लेकिन एनडीटीवी पर रवीश के साथ ही क्यों घबराते हैं। वहां भी बैठिए, रवीश कुमार के सवालों का जवाब दीजिए, तब माना जाएगा कि 56 इंच का शेर।’

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 24990 MRP ₹ 30780 -19%
    ₹3750 Cashback
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 16699 MRP ₹ 16999 -2%
    ₹0 Cashback

आपको बता दें कि पीएम मोदी से एंकर सुधीर चौधरी ने हर मुद्दों पर सवाल किया। एंकर ने जब पीएम मोदी से सरकार द्वारा किए गए रोजगार के अवसर पैदा करने के वादों को लेकर सवाल किया तब उन्होंने कहा कि अगर जी टीवी के बाहर कोई व्यक्ति पकौड़ा बेच रहा है तो क्या वह रोजगार होगा या नहीं? प्रधानमंत्री के इस जवाब के कारण भी सोशल मीडिया यूजर का एक धड़ा ट्विटर पर उन्हें काफी ट्रोल कर रहा है। कुछ लोग कह रहे हैं कि पीएम मोदी कभी भी चाय और पकौड़ों से ऊपर नहीं उठेंगे। वहीं एक यूजर ने ट्वीट कर कहा कि चाय की सेल के साथ अब पकौड़ों की सेल को भी जोड़ा जा रहा है। इसके अलावा एक अन्य यूजर ने कहा कि अगर कोई व्यक्ति भीख मांगकर 200 रुपए कमाता है तो वह बेरोजगार कैसे हो सकता है। वहीं एक यूजर ने कहा कि पकोड़े बेचने के लिए वोट नहीं दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App