ताज़ा खबर
 

पीयूष गोयल ने लिंक शेयर कर बताया- 90 हजार नौकरियां लेकर आया रेलवे, 21 शहरों में होंगी भर्तियां

ट्वीट के अनुसार रेलवे ने जिन 21 शहरों के लिए भर्तियां निकाली हैं, उनमें अहमदाबाद, अजमेर, इलाहाबाद बेंगलुरु, भोपाल, भुवनेश्वर, बिलासपुर, चंडीगढ़, चेन्नई, गोरखपुर, गुवाहाटी, जम्मू, कोलकाता, मालदा, मुंबई, मुजफ्फरपुर, पटना, रांची, सिलीगुड़ी, सिकंदराबाद और त्रिवेंद्रम शामिल हैं।

Author Updated: March 11, 2018 2:35 PM
रेल मंत्री पीयूष गोयल। (Express File Photo/Praveen Jain)

रेल मंत्रालय ने देशभर के 21 शहरों में विभिन्न पदों पर 90 हजार भर्तियां निकाली है। इस बात की जानकारी खुद केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट कर रविवार (11 मार्च, 2018) को दी है। ट्वीट में उन्होंने लिखा है, ‘नए भारत के निर्माण में रेलवे का सहयोग: 90,000 नौकरियों के साथ भारतीय रेल युवाओं के लिए सुनहरा मौका लेकर आया है। अधिक जानकारी के लिए नीचे दिए लिंक पर क्लिक करें।’ ट्वीट के अनुसार रेलवे ने जिन 21 शहरों के लिए भर्तियां निकाली हैं, उनमें अहमदाबाद, अजमेर, इलाहाबाद बेंगलुरु, भोपाल, भुवनेश्वर, बिलासपुर, चंडीगढ़, चेन्नई, गोरखपुर, गुवाहाटी, जम्मू, कोलकाता, मालदा, मुंबई, मुजफ्फरपुर, पटना, रांची, सिलीगुड़ी, सिकंदराबाद और त्रिवेंद्रम शामिल हैं।

ट्वीट के अनुसार रेलवे ने इस बार परीक्षार्थियों की सुविधा के लिए परीक्षा शुल्क घटाया। परीक्षा का आयोजन 15 भारतीय भाषाओं में कराने की बात कही गई है। ट्वीट के अनुसार आवेदन करने की आखिरी तारीफ 31 मार्च, 2018 होगी। हालांकि रेलमंत्री ट्वीट के सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर हैं। एक कमेंट में तंज कसते हुए लिखा गया है कि 90 हजार नौकरियों से कुछ नहीं होगा। दो लाख पद खाली है और भारतीय प्रक्रिया पूरी होने में एक लाख पद और खाली हो जाएंगे। इसलिए दो लाख भर्तियां होनी चाहिए थीं। युवाओं को लॉलीपोप दी जा रही है, वोट लेने के लिए। एक कमेंट में लिखा गया, ‘ये सब लुभाने के लिए आप लोग कर रहे हैं, पांच साल होने को हैं तो आप लोग विद्यार्थियों के भविष्य के बारे मे सोच रहे हैं। इतने दिन कहां थे। सबसे शर्म की बात ये है।

अभिक दास लिखते हैं, ‘रेलवे में नौकरी के लिए बहुत सारे अपराध हो रहे हैं।’ हर्ष कपूर लिखते हैं, ‘धन्यवाद इसके लिए। 90 हजार नौकरियां 3.6 लाख लोगों के चेहरे पर मुस्कुराहट लाएंगी।’ रयान बैग तंज कसते हुए लिखते हैं, ‘पोस्टिंग भी तो दीजिए सर। चार आदमी का काम एक आदमी कर रहा है। रेलवे का हाल आप देख ही सकते हैं।’ कुमार लिखते हैं, ‘अच्छा है अगर 2018 के आखिरी तक पूरा हो जाए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 भारत के नक्शे में लेफ्ट कहां हैं? जवाब देकर ट्रोल हुए कन्‍हैया कुमार
2 त्रिपुरा कांग्रेस चीफ से मिलने पहुंची रिश्‍तेदार वसुंधरा राजे, बीजेपी सरकार ने भी दे दिया ‘तोहफा’
3 VIDEO: पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री के चेहरे पर फेंकी गई स्‍याही, लोग बोले- बम तो आम बात है, ये कुछ नया है