ताज़ा खबर
 

बकरीद के दिन ढ़ाका में सड़कों पर दिखे खूनी सैलाब की तस्वीरें सौ फीसदी सच्ची

बांग्लादेशी चैनल 'बांग्ला विजन' ने बताया कि ढाका के सिटी कॉरपोरेशन के इंतज़ामों में कमी थी। जिसकी वजह से बारिश का पानी जानवरों के खून के साथ मिल गया और सड़कों पर बहने लगा।

Eid al-Adha, Blood Poured Streets in Dhaka, festival of sacrifice, Dhaka Blood filled Streets photos, Slaughter animal blood, Bangladesh, Photoshopped Picturesबकरीद के दिन ढाका की सड़कों पर खून का सैलाब नजर आया था। बाद में फोटोशॅप्ड तस्वीरों के जरिए सड़क पर बह रहे खून वाली तस्वीरों को झूठा करार दिया गया था।

विगत 13 सितंबर को बकरीद के दिन बांग्लादेश की राजधानी ढाका में तेज बारिश हो रही थी, सड़कें पानी से लबालब भरी हुई थीं। कुर्बानी के बाद जानवारों का खून पानी में मिल जाने से ढ़ाका की सड़कें ऐसी लग रहीं थीं जैसे शहर में खून की बाढ़ आ गई हो। लोगों ने इस नजारे को अपने कैमरे में कैद कर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया और कुछ ही देर में ये तस्वीरें वायरल हो गईं। दुनिया भर की मीडिया ने इसको कवर किया, अखबारों ने खबरें प्रकाशित की। इस घटना के कुछ दिन बाद ढ़ाका की लाल दिख रहीं सड़कों की तस्वीरों को फोटोशॉप से बदलकर झूठा साबित करने की कोशिश की जाने लगी। लोगों को लगा की शायद सच में तस्वीरों को फोटोशॉप के जरिये इतना भयावह बनाया गया था। लेकिन बाद में क्रॉस चेक किए जाने पर पता चला की ढ़ाका में बकरीद के दिन खून से लाल सड़कों की तस्वीरें सौ फीसदी सच्ची थीं।

उस दिन बारिश तेज होने के कारण लोगों ने कुर्बानी के लिए निर्धारित स्थान की बजाए अपने घरों और आंगन में ही कुर्बानी दे दी इस वजह से जानवरों का खून बारिश के पानी में मिल गया और सड़कें लाल हो गईं। दरअसल, सोशल मीडिया पर इन तस्वीरों को झूठा साबित करने के लिए दोबारा से जो तस्वीरें पोस्ट की गईं थी वो फोटोशॉप्ड थीं। यदि इन तस्वीरों को ध्यान से देखें तो पता चलता है कि कैसे फोटोशॉप पर एडिटिंग के बाद सड़कों पर दिख रहे लाल पानी के साथ साथ दुकानों के पोस्टर, होर्डिंग्स और लोग भी हरे नजर आ रहे हैं।

बांग्लादेशी चैनल ‘बांग्ला विजन’ ने ढाका की सड़कों पर बहते खून की ना सिर्फ तस्वीरें दिखाईं, बल्कि ये भी बताया कि ढाका के सिटी कॉरपोरेशन द्वारा किए गए इंतज़ामों में कमी थी। जिसकी वजह से बारिश का पानी और जानवरों का खून आपस में मिल गया, जिससे सड़कों पर जानवरों का खून बहने लगा। इस रिपोर्ट में ये बताया गया है कि ईद के दिन सुबह के वक्त, जब जानवरों की कुर्बानी दी जा रही थी, तब ढाका में बारिश हो रही थी। ढाका के लोग, प्रशासन द्वारा तय किए गए जगहों पर कुर्बानी देने की बजाए, अपने घरों के सामने और सड़कों पर ही कुर्बानी देने लगे, जिससे बारिश का पानी और जानवरों का खून आपस में मिल गया और ढाका के शांतिनगर इलाके में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए।

Read Also: महेन्द्र सिंह धोनी जॉन अब्राहम स्टारर इस बॉलीवुड फिल्म में कर चुके हैं एक्टिंग, जानिए

 वीडियो में देखें बकरीद के दिन ढाका की सड़कों का सच:

Next Stories
1 कैटरीना कैफ को एक्टिंग के लिए अवार्ड के एलान पर बिफरे टि्वटर यूजर्स, बोले- सलमान को डेट करना सबसे बड़ी एक्टिंग थी
2 Times Now ने दिखाईं छुट्टी मनाते मनीष सिसोदिया की तस्‍वीरें तो अर्णब गोस्वामी को पड़े हजारों ताने
3 महिलाओं और पुरुष की शर्ट के बटन अलग-अलग साइड पर क्यों होते हैं? आप जानते हैं ?
ये पढ़ा क्या?
X