ताज़ा खबर
 

DEAR विवाद पर ‘Aunty National’ स्‍मृति ईरानी ने किया भावुक पोस्‍ट, FB पर मिला जोरदार समर्थन

पोस्‍ट को लिखे 24 घंटे भी नहीं हुए कि गुरुवार शाम तक इसे 3000 लोगों ने शेयर किया जबकि 7000 से ज्‍यादा बार लाइक किया गया।

Author नई दिल्‍ली | June 16, 2016 6:37 PM
अपने बेहद लंबे संदेश में स्‍मृति ने लिखा है कि वे एक मध्‍यमवर्गीय परिवार में पैदा हुईं थीं। जहां अगर कोई लड़का कुछ कह भी दे तो चुपचाप सिर झुका कर आगे बढ़ जाने की हिदायत दी जाती थी। (FILE PHOTO)

बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी द्वारा ‘डियर’ के संबोधन को लेकर टि्वटर पर हुई बहस के बाद 15 जून को मानव संसाधन विकास मंत्री ने एक फेसबुक पोस्‍ट लिखा। लंबे मैसेज में उन्‍होंने महिलाओं की स्‍थ‍िति का जिक्र करते हुए बताया कि किस तरह से महिलाओं को आवाज नहीं उठाने नहीं दिया जाता, भले ही वे हालात को लेकर सहज न हों। स्‍मृति ने इस पोस्‍ट के आखिर में खुद के लिए ‘आंटी नेशनल’ भी लिखा। बता दें कि कुछ वक्‍त पहले एक अखबार ने स्‍मृति के लिए इस हेडलाइन का इस्‍तेमाल किया था। इसके बाद टि्वटर पर तीखी बहस छिड़ी थी। कुछ सोशल मीडिया यूजर्स ने इसे आपत्‍त‍िजनक कमेंट माना था।

READ ALSO: DEAR बोलने पर बिहार के मंत्री पर भड़कीं ईरानी तो लोगों ने दिखाए स्‍मृति और मोदी के पुराने ट्वीट्स 

अपने बेहद लंबे संदेश में स्‍मृति ने लिखा है कि वे एक मध्‍यमवर्गीय परिवार में पैदा हुईं थीं। जहां अगर कोई लड़का कुछ कह भी दे तो चुपचाप सिर झुका कर आगे बढ़ जाने की हिदायत दी जाती है। उन्‍होंने लिखा, “जवाब क्‍यों ना दिया जाए? हम क्‍यों अपना मुंह सिल लें? ऐसे सवाल का सीधा सा जवाब है- नुकसान तुम्‍हारा होगा, लड़के का कुछ नहीं बिगड़ेगा।” स्‍मृृति ने अपना उदाहरण देते हुए देश की कामकाजी महिलाओं से सहानु‍भूति जताई है। अपनी पोस्‍ट के आखिर में उन्‍होंने बतौर एचआरडी मिनिस्‍टर अपनी उपलब्धियों का ब्‍यौरा दिया है।

पोस्‍ट को लिखे 24 घंटे भी नहीं हुए कि गुरुवार शाम तक इसे 3000 लोगों ने शेयर किया जबकि 7000 से ज्‍यादा बार लाइक किया गया। आश्‍चर्यजनक यह रहा कि स्‍मृति के पोस्‍ट पर प्रतिक्रिया देने में महिलाओं से आगे पुरुष रहे।

smriti1 smriti2 smriti3 smriti4 smriti5 smriti6 smriti7 smriti8

READ ALSO: पटना में कांग्रेस के हीरो बने स्मृति ईरानी को DEAR कहने वाले शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App