scorecardresearch

कांग्रेस ने AIMIM को बताया बीजेपी की बी टीम, असदुद्दीन ओवैसी ने उदाहरण गिना कर दिया जवाब,लोगों ने लिए मजे

असदुद्दीन ओवैसी ने पवन खेड़ा से सवाल पूछा कि जहां भाजपा से कांग्रेस की सीधी टक्कर थी, वहां आपकी पार्टी क्यों हारी?

कांग्रेस ने AIMIM को बताया बीजेपी की बी टीम, असदुद्दीन ओवैसी ने उदाहरण गिना कर दिया जवाब,लोगों ने लिए मजे
एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (द इंडियन एक्सप्रेस)

भारतीय जनता पार्टी के विरोधी दल के नेता AIMIM को भाजपा की बी टीम कहते हैं। आरोप लगाते हैं कि AIMIM अन्य दलों का वोट काटकर भाजपा को फायदा पहुंचाने का काम करती है। कांग्रेस मीडिया प्रभारी पवन खेड़ा ने एक चुनाव नतीजे का उदाहरण देते हुए ट्वीट किया तो असदुद्दीन ओवैसी ने खिंचाई कर दी। पवन खेड़ा ने मध्य प्रदेश के बुरहानपुर के मेयर पद के चुनाव नतीजों को शेयर करते हुए लिखा कि देखिए कैसे भाजपा की बी टीम उसे जीतने में मदद कर रही है।

पवन खेड़ा ने किया ट्वीट

पवन खेड़ा ने बुरहानपुर मेयर पद के चुनाव के नतीजे शेयर किए हैं, जिसमें 388 वोटों से कांग्रेस के प्रत्याशी को हार का सामना करना पड़ा और भाजपा जीत गई। जबकि AIMIM को करीब 10 हजार वोट और AAP को 2908 वोट हासिल हुए हैं। पवन खेड़ा के इस ट्वीट का जवाब खुद AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने दिया है।

ओवैसी ने ऐसे दिया जवाब

ओवैसी ने ट्वीट किया, “किसी ने दल से ज्यादा कांग्रेस का वोट भाजपा काट रही है। यह मांग करनी चाहिए कि भाजपा चुनाव लड़ना बंद करे, कांग्रेस को यह बताना चाहिए कि क्यों पूरी विपक्षी एकता के बाद भी भाजपा के खिलाफ केवल 28/209 सीटें जीत पाई और 2019 में केवल 15/186 लोकसभा सीटें जीतीं, जहां उसका सीधा मुकाबला बीजेपी से था?” इतना ही नहीं, ओवैसी ने राहुल गांधी को भी अपने ट्वीट में घसीट लिया। उन्होंने लिखा कि अमेठी कैसे खो दिया? क्या वॉकर इन चीफ इतना अक्षम है?

लोगों की प्रतिक्रियाएं

पवन खेड़ा और ओवैसी के इस ट्वीट पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। @arshad2399 यूजर ने लिखा कि राजस्थान में खटिया खड़ी होने वाली है पवन साहब, वहां तो AIMIM नहीं है फिर कैसे होगा गया ये सब?@ROASTED77206750 यूजर ने लिखा कि AIMIM सिर्फ RSS के एजेंडे को बढ़ावा दे रही है। हिंदू-मुस्लिम में लड़ाई करवाकर। पवन जी 100% सही कह रहे हैं कि आप छोटा संघी है!

@kiritsshah55 यूजर ने लिखा कि यही वजह है कि मोदी ओवैसी भाइयों के पास ईडी नहीं भेजते। @kapsology यूजर ने लिखा कि अगर ये 2,908 वोट कांग्रेस को मिल भी जाते तो क्या होता? कल तो उसे बिकना तो बीजेपी के हाथों ही था! @bobbeeta_sharma यूजर ने लिखा कि बिलकुल। ये पार्टियां जीतने के लिए नहीं बल्कि कांग्रेस उम्मीदवारों को नुकसान पहुंचाने के लिए चुनाव लड़ती हैं ताकि बीजेपी जीत सके। ऐसा हर जगह होता है।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 28-09-2022 at 09:24:54 pm
अपडेट