ताज़ा खबर
 

टीवी डिबेट में भिड़े पैनलिस्‍ट, कहा- मैं ‘मिक्‍स ब्रीड’ नहीं, इस देश का खून है मेरा

दूसरे पैनलिस्ट शहजाद पूनावाला ने आपत्ति जतायी और कहा कि मतलब भारत के लोगों ने ही चुनावों में एक एंटी-इंडियन पार्टी को वोट देकर जिताया! और जिन्ना के प्रवक्ता नेशनल टेलीविजन पर बैठकर ऐसी बातें कर रहे हैं।

टीवी चैनल पर बहस के दौरान भिड़े पैनलिस्ट। (image source-Youtube/Video grab image)

कई राज्यों में होने वाले आगामी विधानसभा और लोकसभा चुनावों का असर दिखाई देने लगा है। टीवी चैनलों पर राजनैतिक विमर्श जारी है और लगभग हर दिन आगामी चुनावों के मुद्दे पर डिबेट जारी हैं। ऐसी ही एक डिबेट के दौरान दो पैनलिस्ट आपस में भिड़ गए और टीवी एंकर को दोनों पैनलिस्ट को दोनों पैनलिस्ट को शांत कराकर मामला शांत कराया। दरअसल टाइम्स नाऊ चैनल पर असदुद्दीन ओवैसी के एक बयान को लेकर चर्चा चल रही थी। हाल ही में तेलंगाना में एक जनसभा के दौरान असदुद्दीन ओवेसी ने भाजपा पर निशाना साधा और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा अध्यक्ष कांग्रेस मुक्त भारत नहीं बल्कि मुसलमान मुक्त भारत बनाना चाहते हैं।

ओवैसी के इसी बयान पर इस बात को लेकर चर्चा चल रही थी कि क्या ओवैसी ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रहे हैं? इसी मुद्दे पर चर्चा के दौरान एंकर ने एक पैनलिस्ट निशांत वर्मा से इस पर जवाब मांगा तो उन्होंने कहा कि वह ओवैसी के बयान से पूरी तरह सहमत हैं और वह तो यहां तक मानते हैं कि भाजपा इन दिनों एंटी मुस्लिम ही नहीं बल्कि एंटी-इंडियन पार्टी भी है। इस पर दूसरे पैनलिस्ट शहजाद पूनावाला ने आपत्ति जतायी और कहा कि मतलब भारत के लोगों ने ही चुनावों में एक एंटी-इंडियन पार्टी को वोट देकर जिताया! और ‘जिन्ना के प्रवक्ता’ नेशनल टेलीविजन पर बैठकर ऐसी बातें कर रहे हैं।

इस पर पैनलिस्ट निशांत वर्मा ने भड़कते हुए कहा शहजाद पूनावाला पर भाजपा समर्थक होने की बात कही। तो पूनावाला ने कहा कि वह मिक्स ब्रीड नहीं है और उनका खून इस देश का ही है। बहरहाल मामला बढ़ता देख एंकर ने दोनों पैनलिस्टों को चुप कराया और टीवी डिबेट को आगे बढ़ाया। इस डिबेट के दौरान भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा भी मौजूद रहे। डिबेट के दौरान पात्रा ने ओवैसी पर मुस्लिम वोटों के ध्रुवीकरण का आरोप लगाया और उनके द्वारा पहले दिए गए विवादित बयानों का भी उल्लेख किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App