ताज़ा खबर
 

अपने ऑफिस में मजे से सो रही थीं मंत्रीजी, लोगों ने खूब की मजम्‍मत

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के पास लोगों को दिखाने के लिए अभी काफी कुछ दिखाना बाकी है लेकिन हाल में पाक सरकार में मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी की एक तस्वीर इंटरनेट पर वायरल हो गई, जिसने पड़ोसी मुल्क की आवाम को खासा निराश किया।

पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी की यह तस्वीर वायरल हो रही है। (Image Source: Twitter/@SalmaanSabir)

पाकिस्तान की इमरान खान सरकार जिस प्रकार ‘नया पाकिस्तान’ बनाने का नारा दे रही है, उसके हिसाब से चुनौतियां कम नहीं हैं। सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के पास लोगों को दिखाने के लिए अभी काफी कुछ दिखाना बाकी है लेकिन हाल में पाक सरकार में मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी की एक तस्वीर इंटरनेट पर वायरल हो गई, जिसने पड़ोसी मुल्क की आवाम को खासा निराश किया। लोग मंत्री महोदया को ट्रोल कर रहे हैं और मीम्स भी बन रहे हैं। सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर में शिरीन मजारी दफ्तर की कुर्सी पर सोती हुई दिखाई दे रही हैं। तस्वीर में शिरीन अपनी कुर्सी पर आराम से टिकी हुईं आंखें बंद किए हुए दिखाई दे रही हैं, उन्हें देखकर लगता है कि वह सो रही हैं। शिरीन को सोता हुआ मानकर लोग कई तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। सलमान सबीर नाम के यूजर ने लिखा, ‘काम पर मानवाधिकार सोते हुए।’ आइमा खोसा ने लिखा, ‘उन सभी मानवाधिकारों को सुनिश्चित करना थकाऊ रहा होगा।’
सेठ ओल्डमिक्सन ने लिखा, ‘पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री काम पर सोती हुईं।’ एफके ने लिखा, ‘सरकार में इस बीच।’ मोहम्मद तकी ने लिखा, ‘नींद एक मौलिक मानवाधिकार है।’

रिजवान ब्राह्मण ने लिखा, ‘अब जब-जब कोई गुड नाइट बुलाएगा, शिरीन मजारी याद आजानी।’ इमरान हुनजाई ने लिखा, ‘पाकिस्तान के मानवाधिकार सुरक्षित हैं।’ मिरजा ने लिखा, आराम करना सही है लेकिन तस्वीर नहीं। यह लंच ब्रेक हो सकता है, यह दिखाता है कि कोई है कार्यालय में जो निजता का उल्लंघन कर रहा है। यह व्यक्ति महत्वपूर्ण दस्तावेजों को भी लीक कर सकता है। व्यक्ति की पहचान की जानी चाहिए और फिर उसे बर्खास्त किया जाना चाहिए।’
हसीब मिरजा ने लिखा, ‘उनकी मर्जी के बिना तस्वीर खींची गई और साझा की गई जोकि अनुचित, अवैध और उनकी निजी जगह का उल्लंघन है, इसलिए उनका मजाक नहीं उड़ाना चाहिए।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App