ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान मीडिया ने राम रहीम को कहा- सिख रहनुमा, हिंसा को बताया खालिस्तान की आजादी की लड़ाई

ट्रंप को भी देखना चाहिए कि हिन्दुस्तान में जो आजादी की लड़ाई चल रही है। कश्मीर में और पंजाब में आज आजादी की लड़ाई चल रही है।

राम रहीम अब तक के बाबाओं से काफी अलग हैं।

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बलात्कार के एक मामले में सोमवार को 10 साल जेल की सजा सुनाई गई। बीते शुक्रवार को अदालत ने डेरा प्रमुख को बलात्कार के इस मामले में दोषी कराया था, जिसके बाद उनके समर्थकों ने हिंसक प्रदर्शन किए थे। भारतीय मीडिया में करीब पिछले चार पांच दिनों से ये मामला सुर्खियों में है लेकिन पड़ोसी देश भी इस मुद्दे पर कम दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। पाकिस्तानी चैनल बोल इस पूरे मामले को अपने हिसाब से बढ़ा चढ़ा कर पेश कर रहा है। पाकिस्तान चैनल मुख्य तौर पर बाबा राम रहीम को सजा देने को सिखों के खिलाफ अत्याचार के तौर पर बता रहा हैं और पंचकुला में मारे गए लोगों को खालिस्तान की आजादी की लड़ाई में मारे गए लोगों के तौर पर दिखा रहा है। पाकिस्तान चैनल पर कहा गया कि ये इंसान हक के खिलाफ ये लड़ाई है। ट्रंप को भी देखना चाहिए कि हिन्दुस्तान में जो आजादी की लड़ाई चल रही है। कश्मीर में और पंजाब में आज आजादी की लड़ाई चल रही है।

खालिस्तान आंदोलन 80 के देशक में पंजाब में चला एक बड़ा हिंसक आंदोलन था जिसकी मांग अलग सिख राष्ट्र खालिस्तान बनाने की थी। इस पूरे आंदोनल की पीछे पाकिस्तान का सपोर्ट माना जाता है। खालिस्तानी चरमपंथियों को पाकिस्तान पैसे और हथियार से मदद करता रहा है। जहां तक बात गुरमीत राम रहीम की है तो राम रहीम का संबंध सिखों से कुछ ज्यादा अच्छा नहीं रहा है। राम रहीम द्वारा गुरू गोविंद सिंह जैसे कपड़े पहनने के बाद से पंजाब में सिख लोग भड़क गए थे। सिखों ने उनके खिलाफ कई प्रदर्शन किए है। लेकिन पाकिस्तान इस पूरे मसले को अलग ही रंग देने में लगा हुआ है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App