ताज़ा खबर
 

पाकिस्तानी सेना ने सफाईकर्मियों के लिए सिर्फ अल्‍पसंख्‍यकों से मांगे आवेदन, भड़का गुस्‍सा

यह विज्ञापन पाकिस्तान के मशहूर अखबार DAWN में 26 अगस्त को पब्लिश किया है। इस विज्ञापन में विभिन्न भर्तियों की लिस्ट दी गई है, जो कॉम्बेट और नॉन कॉम्बेट दोनों ही श्रेणी की हैं।

पाकिस्तानी सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा। (Inter Services Public Relations via AP)

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के साथ भेदभाव की खबरें आए दिन सुर्खियों में रहती हैं। अब एक बार फिर ऐसी ही एक खबर आयी है, जिसने पाकिस्तान के अल्पसंख्यक समुदाय के साथ-साथ आम लोगों को भी नाराज कर दिया है। दरअसल पाकिस्तानी सेना के रेंजर्स (सिंध प्रांत) ने भर्ती के लिए एक बड़े अखबार में विज्ञापन दिया है। इस विज्ञापन के अनुसार, पाकिस्तानी रेंजर्स में साफ-सफाई जैसे कामों के लिए विज्ञापन में खास तौर पर “Non Muslim Only” की कंडीशन दी गई है। इस नॉन मुस्लिम कंडीशन पर ही विवाद हो गया है और पाकिस्तान के अल्पसंख्यक समुदाय ने इस पर गहरी नाराजगी जाहिर की है।

यह विज्ञापन पाकिस्तान के मशहूर अखबार DAWN में 26 अगस्त को पब्लिश किया है। इस विज्ञापन में विभिन्न भर्तियों की लिस्ट दी गई है, जो कॉम्बेट और नॉन कॉम्बेट दोनों ही श्रेणी की हैं। हालांकि इस सभी नौकरियों में से सिर्फ सफाईकर्मी, जूते बनाने वाली जैसी नौकरियां सिर्फ अल्पसंख्यकों के लिए रखी गई हैं। जिस पर लोगों ने आपत्ति दर्ज करायी है। खासकर सोशल मीडिया पर तो यह विज्ञापन खासा चर्चित हो रहा है और लोग इसके लिए पाकिस्तानी सेना को निशाने पर ले रहे हैं। पाकिस्तान में एक अल्पसंख्यक मानवाधिकार कार्यकर्ता कपिल देव ने इस विज्ञापन की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की है, जिस पर लोग जमकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

कपिल देव ने विज्ञापन की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा है कि पाकिस्तान में सफाईकर्मी की नौकरी के लिए योग्यता ‘नॉन-मुस्लिम’ होनी चाहिए!! आपका काम सिर्फ गंदगी फैलाना है और हमारा केवल सफाई करना। कपिल देव के इस ट्वीट पर लोगों ने कुछ ऐसी प्रतिक्रियाएं दी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App