ताज़ा खबर
 

पद्मावत: गुरुग्राम में बच्‍ची की बस पर पथराव हुआ तो भड़के लोग, ट्विटर पर करणी सेना को खूब लताड़ा

फिल्म के निर्माता और फिल्म समीक्षक बता चुके हैं कि इसमें ऐसा कुछ भी नहीं है जिससे राजपूत समुदाय की भावना को ठेस पहुंचे लेकिन फिर भी लोग फिल्म को बैन करने की मांग को लेकर विरोध कर रहे हैं।

Author नई दिल्ली | January 25, 2018 4:51 PM
पद्मावत। (Photo Source: Twitter)

बॉलीवुड अभिनेत्री दीपिका पादुकोण और अभिनेता शाहिद कपूर और रणवीर सिंह अभिनीत फिल्म ‘पद्मावत’ आज यानि गुरुवार को रिलीज हो चुकी है। फिल्म रिलीज से एक दिन पहले बुधवार को देश के कई हिस्सों में इसके खिलाफ कड़ा विरोध प्रदर्शन किया गया था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद सैकड़ों की संख्या में लोगों ने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया और आगजनी की। कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन करते हुए फिल्म का विरोध कर रहे लोगों ने जमकर पत्थरबाजी की और गाड़ियों को आग लगाई और रास्तों को भी बंद कर दिया। कई जगहों पर प्रदर्शनकारी इसे भारत बंद बुला रहे थे।

इतना ही नहीं गुरुग्राम में एक स्कूल बस को भी करणी सेना के गुस्से का शिकार होना पड़ा था। गुस्साई भीड़ ने बच्चों से भरी स्कूल बस पर जमकर पत्थरबाजी की थी। फिल्म के निर्माता और फिल्म समीक्षक बता चुके हैं कि इसमें ऐसा कुछ भी नहीं है जिससे राजपूत समुदाय की भावना को ठेस पहुंचे लेकिन फिर भी लोग फिल्म को बैन करने की मांग को लेकर विरोध कर रहे हैं। वहीं इस फिल्म का विरोध करने वालों को ट्विटर यूजर्स जमकर फटकार लगा रहे हैं।

ट्विटर पर पद्मावत के समर्थन में हैशटैग इंडिया विद पद्मावत के साथ लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक ने लिखा “वाह, बहादुर राजपूत स्कूल के बच्चों पर हमला करते हो। अगर हिम्मत है तो बॉर्डर पर जाओ।” एक ने लिखा “डरपोक करणी सेना मासूमों बच्चों और महिलाओं पर हमला करके बता रही है कि वे बहादुर राजपूतों और बहादुर रानी पद्मावती पर कितना बड़ा धब्बा हैं। इससे भी बड़ी बात तो यह है कि सरकार चुप बैठकर और इन गुंडों को भारत में ऐसी हरकत करने देने के लिए अपनी कायरता दिखा रही है।” एक ने लिखा “ये लोग खुद को राजपूत बताते हैं और फिर बच्चों पर हमला करते हैं। इन्हें शर्म आनी चाहिए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App