ताज़ा खबर
 

26/11 Mumbai Attack 10th Anniversary: उमर अब्‍दुल्‍ला ने क‍िया ट्वीट- भूलूंगा नहीं मुंबई हमला, लोग कहने लगे- हम कश्‍मीर नहीं भूलेंगे

26/11 Mumbai Attack 10th anniversary: पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने मुंबई पर 26 नवंबर 2011 को हुए आतंकी हमले पर ट्वीट किया था। लेकिन सोशल मीडिया पर उनके ट्वीट को लेकर लोग उन्हें ट्रोल करने लगे। अपने ट्वीट में उमर अब्दुल्ला ने लिखा था,'' #2611MumbaiAttacks We shall not forget.''

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

जम्मू और कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने मुंबई पर 26 नवंबर 2011 को हुए आतंकी हमले पर ट्वीट किया था। लेकिन सोशल मीडिया पर उनके ट्वीट को लेकर लोग उन्हें ट्रोल करने लगे। अपने ट्वीट में उमर अब्दुल्ला ने लिखा था,” #2611MumbaiAttacks We shall not forget.”लेकिन उनके इस ट्वीट के जवाब में कश्मीरी कट्टरपंथी उन्हें जमकर ट्रोल करने लगे। ट्रोलर्स ने लिखा कि हम भी कश्मीर को नहीं भूलेंगे।

उमर अब्दुल्ला के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से @OmarAbdullah से ट्वीट होते ही उनकी पोस्ट पर कॉमेन्ट की बौछार सी होने लगी। एक यूजर @AtharZainagiree ने अपने ट्ववीट में लिखा कि हम भी 2010 को नहीं भूलेंगे। आपके हाथ कश्मीरियों के खून से रंगे हुए हैं। वहीं एक अन्य यूजर @sajad_lon ने भी यही ट्वीट किया,”हम 2010 को नहीं भूलेंगे।” एक अन्य यूजर @Suhail_koshur ने भी अब्दुल्ला के ट्वीट पर कॉमेन्ट किया,” हम भी कब्जा करने वालों के सहयोगियों को नहीं भूलेंगे। इतिहास आपको भी उनके सहयोगी के तौर पर याद रखेगा।

वहीं एक अन्य यूजर @Sameerqadri14 ने ट्वीट किया,” लेकिन आप कश्मीर में हुए खून—खराबे को भूल जाएंगे।” एक यूजर @shakircoolboy ने ट्वीट करते हुए कहा,” आप मुंबई की चिंता करते हैं लेकिन कश्मीर में हमारे भाइयों के साथ हुए रक्तपात का क्या? वहीं एक यूजर @basheerbnw ने ट्वीट किया,”लेकिन आप बीते तीन दशक में एक लाख से ज्यादा मारे गए कश्मीरियों को भूल गए।”

बता दें कि 26/11 को पाकिस्तान से समुद्र के रास्ते भारत आए कुछ आतंकवादियों ने मुंबई शहर पर हमला किया था। इन आतंकवादियों के निशाने पर होटल ताज और आसपास की कई इमारतें थीं। इस आतंकवादी हमले को भारतीय सेना के कमांडो दस्ते ने नाकाम किया था।  कई आतंकवादी मारे गए थे। जबकि आतंकवादी अजमल आमिर कसाब को कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई थी। बाद में उसे फांसी दे दी गई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App