अरविंद केजरीवाल बोले – यूपी में आ रहे हैं अखिलेश यादव, एंकर से कहा – सपा के साथ आप करा दीजिए गठबंधन

पूर्व IAS सूर्यप्रताप सिंह ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा – बाबा तो गयो। गुंजन (@imgunjan) नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं कि अखिलेश यादव तो आएंगे ही क्योंकि आपकी पार्टी उत्तर प्रदेश में दिखाई ही नहीं पड़ रही है।

akhilesh yadav, akhilesh arvind
अरविंद केजरीवाल बोले – यूपी में आ रहे हैं अखिलेश यादव, एंकर से कहा – सपा के साथ आप करा दीजिए गठबंधन (फाइल फोटो – पीटीआई)

सपा प्रमुख अखिलेश यादव और आम आदमी पार्टी के सांसद व यूपी प्रभारी संजय सिंह की हाल में ही हुई मुलाकात के बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि यूपी विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां गठबंधन कर सकती हैं। इन्हीं तमाम मुद्दों पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘न्यूज 18 इंडिया’ के शो में बात की।

इस शो के दौरान केजरीवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में माहौल मौजूदा सरकार के खिलाफ है। आपकी नजर में योगी आदित्यनाथ वापस नहीं आएंगे? इस सवाल पर दिल्ली सीएम ने कहा कि ऐसा लगता है। उनकी जगह अखिलेश यादव आएंगे। अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश में आने वाले हैं तो क्या आप उनके साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे? इसके जवाब में केजरीवाल ने एंकर से कहा कि आप करा दीजिए।

उन्होंने आगे हंसते हुए कहा कि आप बार-बार एक ही सवाल पूछ रहे हो। मैंने साफ तौर पर कहा है कि जब हमारी पार्टी किसी और के साथ गठबंधन करेगी तो हम बताएंगे। क्या 2024 में नरेंद्र मोदी को विपक्ष की तरफ से चुनौती मिलेगी? अरविंद केजरीवाल ने इसके जवाब में कहा कि मेरे लिए किसी पार्टी को हराना और जीताना महत्वपूर्ण नहीं है। मेरे लिए देश को आगे ले जाना महत्वपूर्ण है।

केजरीवाल ने कहा कि जनता किसी को हराने और जीताने के लिए नहीं बल्कि काम करने के लिए वोट देती है। अरविंद केजरीवाल के इस वीडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। पूर्व IAS सूर्यप्रताप सिंह ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा – बाबा तो गयो। गुंजन (@imgunjan) नाम के ट्विटर यूजर लिखते हैं कि अखिलेश यादव तो आएंगे ही क्योंकि आपकी पार्टी उत्तर प्रदेश में दिखाई ही नहीं पड़ रही है।

आरची मिश्रा (@ArchiMi30025311) नाम की ट्विटर यूजर लिखती है कि शिक्षक भर्ती और अन्य भर्तियों के पेपर लीक होते रहेंगे तो उत्तर प्रदेश में बीजेपी के खिलाफ माहौल बनेगा ही। इस सरकार के ऐसे ही हाल रहे तो निश्चित रूप से अगली बार इनको सत्ता मिलने वाली नहीं है। जानकारी के लिए बता दें कि यूपी चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियां अपना गठजोड़ बनाने में लगी हुई हैं।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट