ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान में पैडमैन बैन पर बोलीं महिला एंकर- हाफिज सईद चलेगा लेकिन ‘पीरियड्स’ नहीं

महिलाओं के मासिक धर्म के विषय पर आधारित अक्षय कुमार की फिल्म 'पैडमैन' को पाकिस्तान में बैन किए जाने पर न्यूज चैनल की एंकर रुबिका लियाकत ने ट्वीट कर पड़ोसी मुल्क पर तंज कसा है। रुबिका ने ट्वीट में लिखा- ''हाफिज सईद चलेगा लेकिन 'पीरियड्स' नहीं।''

फिल्म पैडमैन बैन को लेकर न्यूज एंकर रुबिका लियाकत ने पाकिस्तान पर तंज कसा है। (फोटो सोर्स- ट्विटर और फिल्म का एक सीन)

महिलाओं के मासिक धर्म के विषय पर आधारित अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन’ को पाकिस्तान में बैन किए जाने पर न्यूज चैनल की एंकर रुबिका लियाकत ने ट्वीट कर पड़ोसी मुल्क पर तंज कसा है। रुबिका ने ट्वीट में लिखा- ”हाफिज सईद चलेगा लेकिन ‘पीरियड्स’ नहीं।” रुबिका ने टीवी पैनलिस्ट सोनम डोगरा के ट्वीट को ट्वीट करते हुए यह बात लिखी। सोनम डोगरा ने ट्वीट में लिखा था- ”पाकिस्तान में पैडमैन बैन। सेंसर बोर्ड कहता है, ”फिल्म में मासिक धर्म जैसी वर्जनाओं पर बात की गई है, जो कि हमारी परंपरा और संस्कृति के खिलाफ है, इसलिए पाकिस्तान में यह रिलीज नहीं हो सकती है।” मासिक धर्म संस्कृति के खिलाफ है? असल में, आतंकवाद को छोड़कर सब कुछ संस्कृति के खिलाफ है।” रुबिका लियाकत के ट्वीट पर लोग जमकर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। कुछ लोगों ने उनके समर्थन में कमेंट किए तो कुछ ने असहमति जताई। कुछ लोगों ने भद्दी टिप्पणियां भी कीं।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15750 MRP ₹ 29499 -47%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

राजगोपाल नायडू नाम के यूजर ने लिखा- ”हाफिज सईद चलेगा, हलाला भी चलेगा, 4 शादियां चलेंगी, लेकिन पीरियड्स नहीं।” एक यूजर ने लिखा कि बच्चों का बलात्कर करना पाकिस्तान की परंपरा है। डॉक्टर सिंघम ने लिखा- ”पाकिस्तान जैसा देश, जिनके हाथ खून से रंगे हुए हैं, वो आज पीरियड्स के खून से डर रहे हैं।” रेनू ने लिखा- ”पैडमैन जैसी फिल्में महिला सशक्तिकरण के बजाय उनका चीरहरण ही ज्यादा कर रही हैं।” आदि ने लिखा- ”कुछ चीजें पर्दे में ही रहें तो ठीक है, सब को सब पता होता है, उसका ढिंढोरा पीटना आवश्यक नहीं।” अजय पांडेय ने लिखा- पाकिस्तान का बस चले तो शरीयत के नाम पर मुस्लिम महिलाओं के पीरियड्स पर बैन लगा दे। पाकिस्तान में पैडमैन का बैन होना शर्म की बात है। इससे उनकी छोटी मानसिकता का पता चलता है। उन्हें इस चीज का अहसास नहीं है कि पैडमैन फिल्म उनके लिए भी बराबर फायदेमंद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App