ताज़ा खबर
 

टाइम्स नाउ पर मोदी का इंटरव्यू: पत्रकार रवीश कुमार ने पूछा- क्या पीएम कुछ भी बोल देते हैं?

रवीश कुमार ने लिखा, 'मैंने कुछ दिन पहले फेसबुक पर पोस्ट किया था कि भारत के पासपोर्ट को च्यवनप्राश की ज़रूरत है। क्या आपको पता है कि शक्तिशाली पासपोर्ट वाले मुल्कों के मामले में भारत का स्थान एशिया में आख़िर के तीन देशों में हैं।'

एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार। (फोटो-Facebook/@RavishKaPage)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2018 के अपने दूसरे इंटरव्यू में कहा आज के दौर में भारत का पासपोर्ट रखना गौरव की बात बन गई है। पीएम मोदी ने अंग्रेजी चैनल टाइम्स नाउ को दिये इंटरव्यू में कहा, ‘जो लोग देश के बाहर रहते हैं और विदेशी दौरे पर जाते आते रहते हैं, उन्हें पता है कि आजकल भारतीय पासपोर्ट को कितने सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है।’ दरअसल पीएम मोदी का कहना यह था कि केन्द्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद विश्व मंच पर भारत की प्रतिष्ठा बढ़ी है। पर पीेएम नरेंद्र मोदी के इस बयान पर पीएम के आलोचक और पत्रकार रवीश कुमार ने असहमति जताई है। रवीश कुमार ने आंकड़ों और अंतरराष्ट्रीय प्रकाशनों का हवाला देते हुए अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि क्या पीएम आजकल कुछ भी बोल देते हैं। रवीश कुमार ने लिखा, ‘प्रधानमंत्री ने टाइम्स नाउ से कहा कि आज भारत के पासपोर्ट की काफी इज्ज़त है। अंग्रेज़ी वाले एंकर जुगल दिन भर तो विपक्ष विरोधी और हिन्दू मुस्लिम पत्रकारिता करते रहते हैं, थोड़ा गूगल कर लेते तो पता रहता। भारत से बाहर जाने वाले ही बता सकते हैं कि क्या पहले भारत के पासपोर्ट की इज्ज़त नहीं थी? और ये इज्ज़त होने का क्या मतलब है? क्या आपको पता है कि शक्तिशाली पासपोर्ट वाले मुल्कों के मामले में भारत का स्थान एशिया में आख़िर के तीन देशों में हैं।’

रवीश कुमार ने कहा कि कुछ दिन पहले उन्होंने लिखा था कि भारत के पासपोर्ट को च्यवनप्राश की जरूरत है। उन्होंने Henley Passport Index की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए लिखा कि अगर आपके पास भारत का पासपोर्ट है तो आप मात्र 55 देशों में ही वीज़ा के बिना पहुंच सकते हैं, जबकि जर्मनी का पासपोर्ट हो तो आप 177 देशों में बिना वीज़ा के जा सकते हैं। सिंगापुर का पासपोर्ट हो तो आप 176 देशों में बिना वीज़ा के जा सकते हैं।’ रवीश कुमार के इस फेसबुक पोस्ट पर लगातार प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। चौधरी ओम ने लिखा, ‘रवीश कुमार पांडे जी अब हर बार पानी पी-पीकर मोदी का विरोध करना भी सही नहीं है इन्हीं सब बातों की वजह से आपकी पत्रकारिता बिकाऊ लगती है।’ एक यूजर ने चुटकी लेते हुए लिखा, ‘जबसे साहेब ने zee tv के बहार पकोडे का ठेला लगाने वाले भैया के रोजगार की बात कही है बेचारा वो डर सहम गया है कि कहीं उस पर भी GST ना लगा दे।’ एक यूजर ने रवीश कुमार पर तंज कसते हुए लिखा, ‘जो सत्ता में है उनकी सारी ताकत वहां बने रहने की है, और जो नहीं है उनकी सारी ताक़त वहां पहुंचने की है, इन सब में आम जनता को हमेशा कुछ न कुछ नुकसान ही होता है और ये सालों से होता आ रहा है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App