NDRF rescue officer Kanhaiya Kumar saved the life of a child in flood affected kerala people calling him hero - केरल बाढ़: जान पर खेलकर NDRF अधिकारी कन्‍हैया कुमार ने बच्चे को बचाया, लोग कह रहे 'हीरो' - Jansatta
ताज़ा खबर
 

केरल बाढ़: जान पर खेलकर NDRF अधिकारी कन्‍हैया कुमार ने बच्चे को बचाया, लोग कह रहे ‘हीरो’

सोशल मीडिया पर कन्हैया कुमार का जो वीडियो वायरल हो रहा है वह शुक्रवार का है, जिस दिन इडुक्की बांध के पांचों गेट खोले गए थे। बांध के गेट खोलने के कारण नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा था और इडुक्की के एक गांव में बना पुल तेजी से सैलाब में डूब रहा था।

बच्चे की जान बचाते NDRF रेस्क्यू अधिकारी कन्हैया कुमार (फोटो सोर्स- वीडियो स्क्रीनशॉट)

तेज बारिश और बाढ़ से जूझ रहे केरल में इस वक्त उथल-पुथल मची हुई है। भारी बारिश ने केरल के कई जिलों में भारी कहर बरपाया है, जिसके कारण अब तक करीब 37 लोगों की मौत हो चुकी है। केरल में इन मौतों की खबरों, बारिश के कहर की खबरों के बीच कुछ बहुत अच्छा, दिल को छू लेने वाली घटना भी देखने को मिली है। दरअसल, इस वक्त केरल के उन सभी जिलों में जो बाढ़ के कहर से जूझ रहे हैं एनडीआरएफ की टीमें और रेस्क्यू अधिकारी राहत और बचाव का काम करने में जुटे हुए हैं। एनडीआरएफ की टीमें अपनी जान पर खेलकर लोगों को बाढ़ के कहर से बचा रही हैं। लोग इन अधिकारियों की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

इस वक्त अगर एनडीआरएफ के किसी अधिकारी की सबसे ज्यादा तारीफ हो रही है तो वह हैं रेस्क्यू ऑफिसर कन्हैया कुमार। सोशल मीडिया पर कन्हैया कुमार का एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है, जिसमें वह सैलाब में डूबते पुल पर बच्चे को लेकर दौड़ते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो के सामने आने के बाद से ही लोग उनकी जमकर तारीफ कर रहे हैं और उन्हें ‘हीरो’ बता रहे हैं।

सोशल मीडिया पर कन्हैया कुमार का जो वीडियो वायरल हो रहा है वह शुक्रवार का है, जिस दिन इडुक्की बांध के पांचों गेट खोले गए थे। बांध के गेट खोलने के कारण नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ने लगा था और इडुक्की के एक गांव में बना पुल तेजी से सैलाब में डूब रहा था। पुल के दूसरी तरफ एक बच्चा अपने पिता के साथ खड़ा था, वे दोनों पुल पार करने से डर रहे थे। ऐसे में कन्हैया कुमार उनके पास पहुंचे, उन्होंने बच्चे को गोद में उठाया और पिता से कहा कि वह तेजी से उनके पीछे दौड़ें। बस फिर क्या था कन्हैया ने बहादुरी दिखाते हुए डूबते पुल को तेजी से दौड़ते हुए पार किया और बच्चे और उसके पिता की जान बचा ली।

इस घटना के बाद इस रेस्क्यू अधिकारी की जमकर तारीफ की जा रही है। इस पर कन्हैया कुमार ने कहा कि वह अपनी ड्यूटी निभा रहे थे। उन्होंने जानकारी दी कि वह छह सालों से यह काम कर रहे हैं, लेकिन अब वीडियो वायरल होने के बाद उनकी तारीफ की जा रही है, उन्हें लगता है कि उनकी मेहनत का फल उन्हें मिल गया है। बता दें कि कन्हैया कुमार बिहार के हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App