ताज़ा खबर
 

द्रौपदी के चीरहरण पर स्‍क्रॉलड्रॉल ने बनाया विवादित ग्राफिक, Myntra पर भड़के लोग तो सफाई देकर मांगी माफी

जानिए, मिंट्रा ने ऐसा क्‍या कर दिया जो #BoycottMyntra ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है।

मिंट्रा ने बिना इजाजत उसके ब्रांड का इस्‍तेमाल करने पर वेबसाइट के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की बात कही है।

अॉनलाइन शॉपिंग वेबसाइट मिंट्रा डॉट कॉम सोशल मीडिया के गुस्‍से का शिकार हो रही है। शुक्रवार सुबह से ही #BoycottMyntra ट्विटर पर टॉप ट्रेंड्स में शामिल है। फ्लिपकार्ट के मालिकाना हक वाली ई-कॉमर्स कंपनी को सोशल मीडिया पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत करने के लिए लताड़ा जा रहा है। यूजर्स ने एक ‘आपत्तिजनक’ विज्ञापन में मिंट्रा का लोगो देखा और फिर सोशल मीडिया पर गुस्‍सा जाहिर करना शुरू कर दिया। विज्ञापन में महाभारत का एक एनिमेटेड सीन दिखाया गया है, जहां पांडवों की पत्‍नी द्रौपदी को कौरवों की अदालत में निर्वस्‍त्र किया जा रहा होता है। विज्ञापन में दिखाया गया है कि द्रौपदी की मदद को आए भगवान कृष्ण मिंट्रा से एक लंबी साड़ी की खरीदारी कर रहे हैं। एक ट्विटर यूजर ने ग्राफ‍िक शेयर करते हुए मिंट्रा से सफाई मांगी थी। इस यूजर का ट्वीट कुछ ही देर में वायरल हो गया और लोगों ने मिंट्रा का बॉयकाट करने की अपील करनी शुरू कर दी।

इस पूरे वाकये का सच कुछ और ही था। दरअसल, यह ग्राफिक (विज्ञापन नहीं) स्‍क्रॉलड्रॉल नाम की वेबसाइट ने बताया था, जो विभिन्‍न तरह का कंटेंट बनाती है। इसमें मिंट्रा का कोई रोल नहीं था। स्‍क्रॉलड्रॉल ने विवाद मचने पर ट्विटर अकाउंट पर सफाई दी है। अपने ट्वीट में वेबसाइट ने बताया है कि यह ग्राफिक फरवरी में बनाया गया था और लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत होने को ध्‍यान में रखते हुए इसे हटा दिया गया है। स्‍क्रॉलड्रॉल के माफी मांगने के बाद मिंट्रा ने भी ट्वीट कर कहा कि उनका इस ग्राफिक से कोई लेना-देना नहीं है।

सोशल मीडिया ने ऐसे जाहिर किया गुस्‍सा:

श्रीकृष्‍ण को ऑनलाइन शॉपिंग करते दिखाकर फंसी स्‍क्रॉलड्रॉल, सोशल मीडिया पर मचा विवाद तो मांगी माफी

मिंट्रा ने कहा है कि वह स्‍क्रॉलड्रॉल पर उसके ब्रांड का इस्‍तेमाल करने के लिए कानूनी कार्रवाई करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App