हाथरस रेप केस का 1 साल: अखिलेश यादव का योगी आदित्यनाथ पर हमला, कहा – जनता ही BJP को करेगी साफ़

यूपी के हाथरस में पिछले साल सितंबर में चार दबंग युवकों ने 19 साल की लड़की के साथ बाजरे के खेत में गैंगरेप किया था।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव (फोटो-PTI)

समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव इन दिनों बीजेपी को हर मुद्दे पर घेरते नजर आ रहे हैं। उन्होंने बीजेपी पर कई आरोप लगाते हुए कहा है कि योगी सरकार में बेटियां सुरक्षित नहीं है। सपा प्रमुख ने हाथरस रेप कांड के 1 साल पूरे होने के बाद भी पीड़िता को न्याय न मिल पाने का आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी को जनता अब साफ़ करेगी।

उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा कि भाजपा सरकार के राज में नारी पर अत्याचार व उत्पीड़न की प्रतीक ‘हाथरस की बेटी’ के साथ हुए अन्याय का आज एक वर्ष पूरा हुआ पर न्याय अभी भी नहीं मिला। उप्र की एक भी बेटी, बहन, माँ, बहू भाजपा सरकार को कभी माफ़ नहीं करेगी। अब जनता ही इंसाफ़ करेगी, भाजपा को साफ़ करेगी।

सपा प्रमुख के इस ट्वीट पर तमाम यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी है। @imjitendrapathak टि्वटर अकाउंट से कमेंट किया गया कि सरकार ने बोला था कि फास्ट ट्रैक कोर्ट से 6 महीने के अंदर न्याय करेंगे लेकिन अपराधियों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है तो न्याय कैसे मिल सकता है। एक टि्वटर हैंडल से बीजेपी पर निशाना साधते हुए लिखा गया कि अब तो न्याय भी संकोच में दिया जाता है। अपराधियों की पूरी पड़ताल की जाती है कि कहीं ये हमारी पार्टी का तो नहीं है। इससे हमें कितने वोट मिलेंगे उसके आधार पर जांच आगे बढ़ाई जाती है।

@PChhater टि्वटर हैंडल से सपा प्रमुख से सवाल करते हुए लिखा गया कि, ‘लड़के गलती करते हैं, वाले डायलॉग को हम अभी तक भूले नहीं है। क्या आप पापा से माफ़ी मांगने को कहेंगे? एक टि्वटर हैंडल से कमेंट किया गया कि सपा राज में जो खुद रेपिस्ट लोगों को कानून से बचा कर रखते थे वो महिला अत्याचार पर ज्ञान दे रहे हैं। गेस्ट हाउस कांड और गायत्री प्रजापति याद हैं या भूल गए?

जानकारी के लिए बता दें कि यूपी के हाथरस में पिछले साल सितंबर में चार दबंग युवकों ने 19 साल की लड़की के साथ बाजरे के खेत में गैंगरेप करने का आरोप लगाया गया था। जिसमें लड़की की जुबान भी काट दी गई थी और उसके रीढ़ की हड्डी तक तोड़ दी गई थी। इस मामले में पुलिस पर लापरवाही बरतने का आरोप भी लगा था।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट