चुनाव में जमानत ही नहीं, बड़बोलेपन की ज़ुबान भी ज़ब्त होती है – सपा चीफ  अखिलेश यादव का योगी आदित्यनाथ सरकार पर तंज

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने लखीमपुर खीरी की घटना पर कहा कि इतना अंग्रेजों ने भी किसानों पर जुल्म नहीं किया था जितना भाजपा की सरकार कर रही है।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
सपा प्रमुख अखिलेश यादव (फोटो सोर्स – पीटीआई)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में विपक्षी पार्टियां योगी आदित्यनाथ सरकार को हर मुद्दे पर घेरती नजर आ रही हैं। सपा प्रमुख व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोलने में पीछे नहीं है। वह अक्सर ही अपनी सोशल मीडिया हैंडल के जरिए यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ और बीजेपी पर निशाना साधते रहते हैं। उन्होंने बीजेपी पर तंज कसते हुए लिखा कि चुनाव में जमानत ही नहीं, बड़बोलेपन की ज़ुबान भी ज़ब्त होती है।

उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, कुछ चुनाव ऐसे होते है जिनमें सिर्फ़ ज़मानत ही ज़ब्त नहीं होती, बड़बोलेपन की ज़ुबान भी ज़ब्त हो जाती है। यूपी का चुनाव भाजपा की ‘सत्ता ज़ब्त’ करेगा। अखिलेश यादव के इस ट्वीट पर तमाम यूजर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए दिखाई दे रहे हैं। कुछ यूजर उनके समर्थन में अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं वहीं उनके इस तंज पर कुछ यूज़र हमला करते नजर आ रहे हैं।

एक ट्विटर यूजर लिखते हैं कि अगर आपके इतने ही अच्छे काम होते तो जनता 2017 में बीजेपी को न जीता देती। @Rajuurigjunvasi टि्वटर हैंडल से मजा लेते हुए लिखा गया कि अरे अब ऐसा भी भ्रम मत पालिए। एक टि्वटर हैंडल से कमेंट आया, शाम में ही सपने देखने का मजा ले रहा है, रात अभी बाकी है। मुंगेरी लाल के हसीन सपने पालने में क्या जाता है।

एक टि्वटर अकाउंट से कमेंट किया गया, देखो भाई ज्यादा जल्दबाजी ठीक नहीं।अभी फिलहाल अपनी/पार्टी की इज्जत/अस्तित्वही अगर बची रह जाय तो जानो ईश्वर की बड़ी कृपा रही है। @TaraPrasannaCh1 टि्वटर हैंडल से लिखा गया कि कभी-कभी ख्याली पुलाव बहुत टेस्टी होता है। अखिलेश यादव जी आप भी ऐसा ही ख्याली पुलाव पकाते रहिए।

जानकारी के लिए बता दें कि अखिलेश यादव केंद्र सरकार द्वारा पारित किसान कृषि कानूनों को लेकर भी बीजेपी पर निशाना साधते नजर आते हैं। सोमवार को लखीमपुर खीरी में किसानों के साथ हुई घटना पर जब उन्हें पीड़ित परिवार से मिलने जाने से रोका गया तो वह अपने घर के बाहर ही धरने पर बैठ गए। इसके बाद उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को इस्तीफा दे देना चाहिए। अखिलेश ने कहा कि इतना अंग्रेजों ने भी किसानों पर जुल्म नहीं किया था जितना भाजपा की सरकार कर रही है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट