अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह एके-47 कर लें सपा प्रमुख – अखिलेश यादव के बुलडोजर वाले बयान पर BJP के केशव मौर्या का पलटवार

सपा प्रमुख ने पलटवार करते हुए कहा था कि पीएम मोदी को सीएम से कहकर टॉप 10 अपराधियों की सूची निकलवा लें फिर देखें कि यह अपराध कौन कर रहा है?

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
UP Deputy CM Keshav Prasad Maurya and SP Chief Akhilesh Yadav (Photo Source – PTI)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले राजनीतिक पार्टियों का आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बुलडोजर वाले बयान पर उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को अपनी पार्टी का चुनाव चिन्ह एके-47 कर लेना चाहिए।

दरअसल अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह के नाम पर एक विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने समाजवादी पार्टी पर जमकर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि यूपी के लोग भूल नहीं सकते कि पहले यहां किस तरह के घोटाले होते थे। पूरे प्रदेश को भ्रष्टाचारियों के हवाले कर दिया गया था। उन्होंने कहा था कि एक जमाना था जब यहां पर शासन प्रशासन और गुंडों, माफियाओं की मनमानी चलती थी।

इसके बाद उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा था कि योगी जी की सरकार पूरी ईमानदारी से यूपी के विकास में जुटी हुई है। पीएम मोदी द्वारा लगाए गए आरोपों पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पलटवार करते हुए कहा था कि पीएम मोदी को सीएम से कहकर टॉप 10 अपराधियों की सूची निकलवा लें फिर देखें कि यह अपराध कौन कर रहा है? इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि यूपी की जनता बीजेपी का सफाया करने जा रही है और पूर्ण बहुमत के साथ यूपी में सपा की सरकार बनने वाली है।

उन्होंने यह भी कहा था कि सरकार गरीबों के घरों को तोड़ रही है इसलिए इस सरकार को अपना चुनाव चिन्ह बुलडोजर रख लेना चाहिए। उनके इसी बयान पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने पलटवार करते हुए कहा कि उनको तो अपना चुनाव चिन्ह एके-47 रख लेना चाहिए।

उन्होंने सपा पर आरोप लगाया कि सपा का साथ हमेशा गुंडों, अपराधियों और माफिया का रहा है तो इसलिए इन्हें अपने पार्टी का चुनाव चिन्ह एके-47 कर लेना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने यह भी आरोप लगाए कि सपा शासनकाल में आतंकवादियों के मुकदमे वापस लिए गए थे। उन्होंने सीएम योगी द्वारा दिये गए ‘अब्बा जान’ वाले बयान पर कहा कि जब सपा संरक्षक को ‘मुल्ला मुलायम’ कहा जाता था तो अखिलेश को अच्छा लगता था। लेकिन ‘अब्बा जान’ उनको बुरा लग रहा है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट