अखिलेश ने वैक्सीन सर्टिफिकेट पर PM मोदी की तस्वीर होने के कारण नहीं लगवाया टीका – लाइव शो में एंकर ने सपा प्रवक्ता से पूछा सवाल

पीएम मोदी ने भी शुक्रवार को कहा था, जब देश के नागरिकों ने ताली और थाली बजाई थी तो कुछ लोगों ने कहा था कि क्या इससे बीमारी भाग जाएगी। उस समय इसके जरिए देश की एकता देखी गई थी।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (फोटो सोर्स – पीटीआई)

भारत में 100 करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आंकड़ा पार हो गया है। इसी मुद्दे पर टाइम्स नाउ नवभारत न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम में एंकर ने सपा प्रवक्ता से पूछा कि क्या सपा प्रमुख अखिलेश यादव इसलिए टीका नहीं लगवा रहे हैं क्योंकि सर्टिफिकेट पर पीएम मोदी की तस्वीर लगी है।

सपा प्रवक्ता ने कहा कि, सरकार को मान लेना चाहिए कि कोरोना से जंग में वह हार गए हैं। ताली- थाली बजा कर जश्न मनाया गया। देश के सामने इनको स्वीकार करना चाहिए कि हम व्यवस्था नहीं कर पाए। आप देश के राजा हैं और आपकी जिम्मेदारी है कि अगर जनता किसी बीमारी से मर रही है तो उसका इलाज कराया जाए।

सपा प्रवक्ता ने कहा, पहली लहर के दौरान अगर जिम्मेदारी के साथ काम किया गया होता तो दूसरी लहर में इतने परिवारों को दुख न देखना पड़ता। आप इस चीज को कहकर नहीं बच सकते हैं कि पूरी दुनिया में क्या हुआ। हमारे प्रदेश के मुखिया तो दूसरे प्रदेश में जाकर चुनाव प्रचार कर रहे थे।

सपा प्रवक्ता की बात पर एंकर ने पूछा, अखिलेश यादव को वैक्सीनेशन से परहेज क्यों है? लेकिन सपा प्रवक्ता ने जवाब नहीं दिया। सपा प्रवक्ता द्वारा लगाए गए आरोपों पर सुधांशु त्रिवेदी ने कहा, हमारे विपक्ष के मित्र बार-बार ताली और थाली की बात करते हैं। यह एक सामाजिक मनोविज्ञान है और जनता के मनोवैज्ञानिक संबल के लिए ऐसा किया जाता है।

त्रिवेदी ने कहा कि, क्या चरखा चलाने से अंग्रेज भाग जाने वाले थे? ऐसा नहीं था लेकिन महात्मा गांधी ने चरखे को एक प्रतीक बनाया, सामाजिक मनोविज्ञान का केंद्र बिंदु चरखे को बनाया। जिसके जरिए उन्होंने समाज में एक संदेश दिया। उसी तरह पीएम नरेंद्र मोदी ने भी लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए ताली और थाली बजवाई थी।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने भी शुक्रवार को कहा था, जब देश के नागरिकों ने ताली और थाली बजाई थी तो कुछ लोगों ने कहा था कि क्या इससे बीमारी भाग जाएगी। उस समय इसके जरिए देश की एकता देखी गई थी। जानकारी के लिए बता दें कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव के वैक्सीनेशन को लेकर इसलिए सवाल उठाया जाता है क्योंकि उन्होंने भारत में वैक्सीन बनने पर कहा था कि मैं बीजेपी की वैक्सीन नहीं लगवाउंगा।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।