शिवपाल ने अखिलेश यादव को दी ‘युद्ध’ की चेतावनी, कहा – मैंने तो पांडव की तरह मांगे थे पांच गांव

इटावा में एक कार्यक्रम के दौरान शिवपाल यादव ने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि मुलायम सिंह यादव नहीं चाहते कि मैं पार्टी से अलग रहूं लेकिन उसके बावजूद मुझे अलग किया गया।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
शिवपाल ने SP प्रमुख को दी 'युद्ध' की चेतावनी, कहा – मैंने तो पांडव की तरह मांगे थे पांच गांव (फोटो सोर्स – पीटीआई)

प्रगतिशील समाज पार्टी( लोहिया) के अध्यक्ष शिवपाल यादव ने इटावा में एक कार्यक्रम के दौरान अखिलेश यादव पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने मथुरा से 12 अक्टूबर को रथ यात्रा निकालने की जानकारी देते हुए कहा कि इंतजार करते करते थक गया हूं, अब तो युद्ध होना है इसलिए हम निकल पड़े हैं।

उन्होंने महाभारत का जिक्र करते हुए कहा कि जिस तरह पांडवों ने महाभारत के युद्ध में केवल 5 गांव मांगे थे और पूरा राज्य उन पर छोड़ दिया था। उसी तरह हमने भी केवल अपने साथियों का सम्मान मांगा था। शिवपाल यादव ने सपा प्रमुख को लेकर कहा कि आज भी मैंने फोन और मैसेज किया कि भाजपा को हराने के लिए बात करना जरूरी है।

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि मुलायम सिंह यादव नहीं चाहते थे कि मुझे पार्टी से हटाया जाए लेकिन उसके बावजूद भी मुझे अलग किया गया। दूसरी तरफ सपा प्रमुख व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी 12 अक्टूबर से उत्तर प्रदेश में ‘समाजवादी विजय यात्रा’ निकालने जा रहे हैं। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से एक पोस्टर जारी करते हुए यह जानकारी दी।

उनके द्वारा शेयर किए गए इस पोस्टर पर उत्तर प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने तंज कसते हुए लिखा कि अखिलेश यादव जी, इस पोस्टर में आप किसी की तस्वीर लगाना भूल गए है शायद, अपनी जीवन यात्रा को मस्तिष्क में रख कर प्रयास करिए याद आ जाएगा। यूपी बीजेपी चीफ द्वारा कसे गए तंज पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भी पलटवार किया है।

उन्होंने एक न्यूज़ चैनल के इंटरव्यू के दौरान कहा कि जो भारतीय जनता पार्टी है वह ध्यान से नहीं देखती है जो तस्वीर ट्वीट की गयी है। वह रथ के कार्यक्रम को आगे बढ़ाएगा। सबसे पहले नेताजी की तस्वीर है….नेताजी का वीडियो है…कब-कब, किन – किन वरिष्ठ नेताओं ने रथ चलाएं हैं। वह सब वहां पोस्टर में है लेकिन वह अच्छी चीज देखना ही नहीं चाहते हैं। वह केवल पार्टी की बुराई देखना चाहते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में सभी राजनीतिक दल एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाते हुए दिखाई दे रहे हैं।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट