ताज़ा खबर
 

29 की उम्र तक पहुंचते-पहुंचते सबसे ज्‍यादा रन बनाने वाले बल्‍लेबाजों में इस नंबर पर हैं विराट कोहली

वहीं शनिवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टीम की बल्लेबाजी को हार के लिए जिम्मेदार ठहराया है।
वनडे में शतक जड़ने के बाद विराट कोहली को बधाई देते रोहित शर्मा।

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली नए-नए रिकॉर्ड बनाते जा रहे हैं। टी-20 में सात हजार रन बनाने वाले कोहली के नाम एक और बड़ी उपलब्धि है। दरअसल कोहली 29 की उम्र में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में भी दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। खबर के अनुसार कप्तान 29 साल की उम्र तक 15631 रन बनाकर विश्व में दूसरे खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे आगे महान खिलाड़ी सचिन तेंडुलकर हैं जिन्होंने इस उम्र तक 18938 रन बनाएं। क्रम अनुसार देखें तो पहले नंबर सचिन, दूसरे पर कोहली और तीसरे नंबर पर दक्षिणी अफ्रीकी बल्लेबाज जैक्स कैलिस हैं। उन्होंने 13234 रन बनाए हैं। देखें लिस्ट-

 

गौरतलब है कि सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ कप्तान विराट कोहली ने एक और बड़ी उपलब्धि हासिल की थी कोहली भारत के पहले और विश्व के आठवें ऐसे बल्लेबाज बने थे जिन्होंने टी-20 में सात हजार रन बनाए हैं। इसी के साथ कोहली इंटरनेशनल टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज भी बन गए। इस मामले में उनसे आगे सिर्फ न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैकुलम है। न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा टी-20 खेलने से पहले कोहली 6990 रन बना चुके थे। जबकि टी-20 अंतर्राष्ट्रीय में उनके नाम 1878 रन हैं। इसी के साथ कोहली ने इंटरनेशनल टी-20 में 200 चौके मारने का भी आंकड़ा छू लिया है। इस मामले में उनसे आगे सिर्फ अब श्रीलंका के तिलकरत्ने दिलशान हैं।

वहीं शनिवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टीम की बल्लेबाजी को हार के लिए जिम्मेदार ठहराया है। किवी टीम ने दूसरे मैच में भारत को 40 रनों से हरा दिया। मेहमान टीम ने कोलिन मुनरो की नाबाद 109 रनों की पारी के दम पर भारत के सामने 197 रनों का लक्ष्य रखा था। भारतीय टीम इस लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाई और 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 156 रन ही बना सकी। मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कोहली ने कहा, ‘न्यूजीलैंड ने बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया। हमने मौकों को भुनाया नहीं, हां एक समय लग रहा था कि वह 235-240 तक पहुंचेंगे, लेकिन हमने उन्हें वहां तक जाने नहीं दिया जिसका श्रेय बुमराह और भुवी को जाता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App