1948 में द‍िए गए एक भाषण के चलते आज ट्रोल हो रहे हैं मो. अली ज‍िन्‍ना - mohammad ali jinnah Speech at Dhaka in 1948 declaring Urdu as pakistan State language - Jansatta
ताज़ा खबर
 

1948 में द‍िए गए एक भाषण के चलते आज ट्रोल हो रहे हैं मो. अली ज‍िन्‍ना

21 मार्च 1948 के दिन ढाका में जिन्ना ने अपने इसी भाषण में घोषणा की थी कि उर्दू ही शासन की भाषा होगी।

मोहम्मद अली जिन्ना। (Source: Express archive photo)

सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर पाकिस्तान के काएदे आजम मोहम्मद अली जिन्ना ट्रोल हो गए हैं। आप सोच रहे होंगे जिन्ना आज कैसे ट्रोल हो सकते हैं! उनकी मृत्यु तो 11 सितंबर 1948 को हो गई थी। तो आइए जानते हैं कि आखिर हुआ क्या है। दरअसल जिन्ना के पुराने भाषण का एक वीडियो वायरल हो गया है। यह भाषण उन्होंने 21 मार्च, 1948 के दिन, ढाका(तब पूर्व पाकिस्तान, अब बांग्लादेश) में दिया था। जिन्ना ने अपने इसी भाषण में उर्दू को राष्ट्रीय भाषा का दर्जा दिया था और घोषणा की थी कि उर्दू ही शासन की भाषा होगी। हालांकि जिन्ना ने यह भाषण उर्दू में नहीं बल्कि अंग्रेजी भाषा में दिया था। बस इसी भाषण का 46 सेकेंड का एक वीडियो ट्विटर पर वायरल हो गया है। इसमें जिन्ना कहते हैं, “मैं यह बात साफ कर देना चाहता हूं कि राज्य की भाषा उर्दू होगी। इसमें कोई शक नहीं।”

भाषण के इस वीडियो कोल ट्विटर पर Jahan Baloc‏ (Twitter/@Baloch_World) ने शेयर किया है। वीडियो शेयर करने के साथ यूजर ने उसके साथ कुछ ऐसा लिख दिया जिसके बाद जिन्ना साहब ट्रोल होने लगे। Jahan Baloc ने लिखा, “मोहम्मद अली जिन्ना अंग्रेजी में भाषण देते हुए उर्दू को पाकिस्तान राजभाषा घोषित करते हुए” बस इसके बाद ट्विटर यूजर्स ने जिन्ना और पाकिस्तान, दोनों को ही ट्रोल करना शुरू कर दिया। वीडियो पर कई तरह के कमेंट्स किए गए। कई लोगों ने अंग्रेजी में भाषण का मजाक उड़ाया तो कई ने पाकिस्तान की आलोचना की। वहीं कुछ ट्विटर यूजर्स जिन्ना और पाकिस्तान के समर्थन में भी आए। बहरहाल, आप भी सुनें जिन्ना का वो भाषण।

देखें लोगों की प्रतिक्रिया

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App